प्रगतिशील किसानों के खेतों का भ्रमण किया

बिलासपुर। युवा सेवाएं एवं खेल विभाग के तत्वावधान में कृषि विज्ञान केंद्र बरठीं में आयोजित कृषि व्यवसाय प्रशिक्षण शिविर संपन्न हो गया है। सात दिवसीय प्रशिक्षण शिविर में किसानों को खेती के विभिन्न तरीके सीखाए गए। शिविर में किसानों ने बढ़ चढ़ कर भागीदारी निभाई।
शिविर के समापन पर कृषि विज्ञान केंद्र बरठीं के प्रभारी एसके घाबरू ने किसानों को प्रमाण पत्र वितरित किए। किसानों को कृषि को व्यवसाय के रूप में अपनाना चाहिए। किसानों को नकदी फसलों की ओर अपना ध्यान केंद्रित करना चाहिए ताकि वह अपनी आर्थिकी सुदृढ़ कर सकें।
इससे पूर्व किसानों ने दसलेहड़ा, शाहतलाई के किसानों की ओर से तैयार की नगदी फसलों आलू, प्याज, गोभी, मूली, लहसून सहित अन्य प्रजातियों के बारे में भ्रमण किया। इसके अलावा किसानों ने किसान धनीराम द्वारा तैयार किया गया अठारह सौ अनार के पौधे, सेब के पौधों का भी भ्रमण किया। प्रेरणा के स्रोत रहे इस किसान ने गत वर्ष 3.5 लाख की अनार की फसल बेचकर अपनी आर्थिकी सुदृढ़ की है। भ्रमण के दौरान कृषि विशेषज्ञ डा. अशोक कुमार चौबे ने किसानों को जानकारी दी। उन्होंने किसानों को नकदी फसलों की बीजाई करने का आह्वान किया। शिविर में डा. संजय कुमार, डा. सीमा देवी, डा. रविंद्र कुमार, डा. देशराज ठाकुर, डा. लखनपाल, डा. अखिलेश कुमार, मीनाक्षी देवी, शिव सागर युवक मंडल काथला के प्रधान सीता राम शर्मा, पंकज कुमार, विजय कुमार, रवि शर्मा, किशोरी लाल, संदीप, अनूप, कमल, अर्चना, रूपा, कविता, जमना, शंकर, जगदीश सहित अन्य किसानों ने भाग लिया।

Related posts

Leave a Comment