पुलिस अधीक्षक मंडी को फिर भेजा रिमाइंडर : सचिव डॉ. जितेंद्र कंवर

पुलिस अधीक्षक मंडी को फिर भेजा रिमाइंडर : सचिव डॉ. जितेंद्र कंवर

हमीरपुर चयन आयोग के सचिव डॉ. जितेंद्र कंवर ने कहा कि आयोग ने पुलिस अधीक्षक मंडी को जेओए मामले में रिमाइंडर भेजा है। जिस केंद्र में नकल का मामला सामने आया है, उसे भविष्य में अन्य भर्तियों के लिए केंद्र नहीं बनाने के बारे में निर्णय लिया है। जूनियर ऑफिस असिस्टेंट (जेओए) भर्ती गड़बड़ी मामले में अब प्रदेश कर्मचारी चयन आयोग ने पुलिस अधीक्षक मंडी को रिमाइंडर भेजा है। रिमाइंडर के माध्यम से आयोग ने पुलिस अधीक्षक को शीघ्र इस मामले की स्टेटस रिपोर्ट देने के लिए कहा है। पूर्व…

Read More

पेपर लीक मामला: पुलिस रिपोर्ट के बाद परीक्षा रद्द करने पर फैसला लेगा कर्मचारी चयन आयोग

पेपर लीक मामला: पुलिस रिपोर्ट के बाद परीक्षा रद्द करने पर फैसला लेगा कर्मचारी चयन आयोग

मंडी/सुंदरनगर/हमीरपुर कर्मचारी चयन आयोग के सचिव डॉ. जितेंद्र कंवर ने बताया कि इस परीक्षा के साथ प्रदेश के लाखों अभ्यर्थियों का भविष्य जुड़ा है। अभी तक ऐसा कोई आधार नहीं है कि परीक्षा को रद्द किया जाए। वहीं मंडी के दो और ऊना के एक अभ्यर्थी की उम्मीदवारी को रद्द कर दिया गया है। जेओए की परीक्षा लेने वाले हिमाचल प्रदेश कर्मचारी चयन आयोग पुलिस रिपोर्ट का अध्ययन करने के बाद परीक्षा को रद्द करने पर विचार कर सकता है। मामला लाखों अभ्यर्थियों के भविष्य से जुड़ा हुआ है। ऐसे…

Read More

कारनामा : अधिकारी बैठक से नदारद, जारी होंगे कारण बताओ नोटिस

कारनामा : अधिकारी बैठक से नदारद, जारी होंगे कारण बताओ नोटिस

हमीरपुर। बचत भवन हमीरपुर में आयोजित संयुक्त सलाहकार समिति की बैठक में वरिष्ठ अधिकारियों के न पहुंचने पर विभिन्न मुद्दों का समाधान नहीं हो पाया है। इस पर नाराजगी जाहिर करते हुए उपायुक्त हमीरपुर देवश्वेता बनिक ने संबंधित विभागों के अधिकारियों को कारण बताओ नोटिस जारी करने के आदेश जारी किए हैं। करीब साढ़े नौ वर्ष के बाद आयोजित इस बैठक में लोक निर्माण विभाग और जलशक्ति विभाग दोनों विभागों से कोई एक्सईएन और अधीक्षण अभियंता नहीं पहुंचे। सुजानपुर और भोरंज के दोनों एसडीएम और सुजानपुर के तहसीलदार भी बैठक…

Read More

पूर्व सैनिको के लिए खुशखबरी : पूरे देश में किसी भी पॉलिक्लिनिक में इलाज करवाने से पहले अब नहीं लेनी होगी अनुमति

पूर्व सैनिको के लिए खुशखबरी :  पूरे देश में किसी भी पॉलिक्लिनिक में इलाज करवाने से पहले अब नहीं लेनी होगी अनुमति

हमीरपुर लाभार्थियों को अब नहीं गुजरना पड़ेगा जटिल प्रक्रियायों से ईसीएचएस पॉलीक्लीनिक हमीरपुर के प्रभारी कर्नल सतीश कटोच ने बताया कि अब किसी भी पॉलीक्लीनिक में उपचार व रेफरल की सुविधा बिना किसी कागजी कार्रवाई के दी गई है। भूतपूर्व सैनिक अंशदायी स्वास्थ्य योजना (ईसीएचएस) के लाभार्थी अब देशभर के किसी भी पॉलीक्लीनिक में उपचार ले सकेंगे। ईसीएचएस सेंट्रल ऑर्गेनाइजेशन ने बिना किसी झंझट के उपचार व रेफरल लेने की सुविधा दी है। अब प्रदेश भर के करीब चार लाख लाभार्थियों को अन्य शहर में उपचार करवाने के लिए कोई…

Read More

नहीं थम रही महंगाई की रफ़्तार, रिफाइंड 20, वनस्पति घी 30 रुपये महंगा

नहीं थम रही महंगाई की रफ़्तार, रिफाइंड 20, वनस्पति घी 30 रुपये महंगा

सुजानपुर (हमीरपुर) महंगाई की मार से जनता त्रस्त, बताया जा रहा है कि रिफाइंड व घी में इस्तेमाल होने वाला पाम आयल इंडोनेशिया और मलेशिया से आता है जबकि सूरजमुखी का तेल यूक्रेन से आता है। निर्धन और मध्यम वर्ग पर महंगाई की मार पड़ी है। रूस और यूक्रेन के बीच चल रहे युद्ध के बीच महंगाई ने भी अपना असर दिखाना शुरू कर दिया है। बाजार में खाद्य तेल रिफाइंड 20 और वनस्पति घी के दाम में 30 रुपये प्रति किलो बढ़ गए हैं। रिफाइंड तेल का एक लीटर…

Read More

शराब मामला: अब चार असिस्टेंट कमिश्नर को कारण बताओ नोटिस जारी

शराब मामला: अब चार असिस्टेंट कमिश्नर को कारण बताओ नोटिस जारी

हमीरपुर जिन चार लोगों को कारण बताओ नोटिस जारी किए गए हैं, उनमें मंडी जिले के दो, जबकि हमीरपुर और कांगड़ा जिले का एक-एक असिस्टेंट कमिश्नर शामिल हैं। संतोषजनक जवाब न मिलने पर सरकार इन चार असिस्टेंट कमिश्नरों को भी निलंबित कर सकती है। जहरीली शराब मामले में सरकार ने जीरो टोलरेंस की नीति अख्तियार कर ली है। तीन एक्साइज इंस्पेक्टरों को निलंबित करने के बाद अब सरकार ने सहायक आयुक्त राज्य कर एवं आबकारी पर भी ड्यूटी में लापरवाही का ठीकरा फोड़ दिया है। सरकार ने चार असिस्टेंट कमिश्नर…

Read More

विश्वविद्यालय भर्ती मामले में विभाग ने बिठाई जांच, नियुक्तियों पर रोक

विश्वविद्यालय भर्ती मामले में विभाग ने बिठाई जांच, नियुक्तियों पर रोक

हमीरपुर टेक्निकल यूनिवर्सिटी हमीरपुर में आउटसोर्स पर हुई भर्तियों के मामले में तकनीकी शिक्षा विभाग ने जांच बिठा दी है। विवि रजिस्ट्रार अनुपम ठाकुर, वित्त अधिकारी उत्तम पटियाल, सहायक नियंत्रक राजवीर सिंह और डीन एवं परीक्षा नियंत्रक प्रो राजेंद्र गुलेरिया को शिमला तलब किया गया। हिमाचल प्रदेश टेक्निकल यूनिवर्सिटी हमीरपुर में आउटसोर्स पर हुई भर्तियों के मामले में तकनीकी शिक्षा विभाग ने जांच बिठा दी है। प्रधान सचिव तकनीकी शिक्षा डॉ. रजनीश इस मामले की जांच कर रिपोर्ट सरकार को सौंपेंगे। भाई-भतीजावाद के आरोपों से घिरी इस भर्ती मामले में…

Read More

मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने चिकित्सा महाविद्यालय हमीरपुर में विभिन्न सुविधाओं का किया लोकार्पण

मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने चिकित्सा महाविद्यालय हमीरपुर में विभिन्न सुविधाओं का किया लोकार्पण

शिमला : मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने आज डाॅ. राधाकृष्णन राजकीय चिकित्सा महाविद्यालय हमीरपुर के पैथोलाॅजी विभाग में 84.20 लाख रुपये की लागत से स्थापित हिस्टोपैथोलाॅजी प्रयोगशाला का लोकार्पण किया। उन्होंने बाॅयो-केमिस्ट्री विभाग में 15 लाख रुपये की लागत से स्थापित आटोमेटिड बाॅयो-केमिस्ट्री एनालाइजर का लोकार्पण भी किया। इस सुविधा से एक घंटे में 360 फोटोमेट्रिक जाॅॅंच तथा कोविड-19 मरीजों के बाॅयो-केमिस्ट्री टेस्ट भी किए जा सकेंगे। उन्होंने राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के राष्ट्रीय दृष्टिहीनता नियंत्रण कार्यक्रम के तहत चिकित्सा महाविद्यालय के नेत्र विज्ञान विभाग में नेत्रदान केंद्र का शुभारम्भ भी…

Read More

शराब मामला: नीरज चंडीगढ़ से ही चलाता था काला कारोबार

शराब मामला:  नीरज चंडीगढ़ से ही चलाता था काला कारोबार

मंडी/सलापड़/हमीरपुर कांग्रेस से निलंबित महासचिव नीरज ठाकुर कभी शराब के ठेके में सेल्समैन की नौकरी करता था। यहीं से नकली शराब का आइडिया लेकर उसने इस काले कारोबार का खेल शुरू किया। उसके पास आज खुद के 17 शराब के ठेके हैं। वह कुछ समय में ही करोड़ों का मालिक बनकर पैसों के दम पर नेतागिरी चमकाने लगा। नीरज ठाकुर के लंबलू और बोहणी में दो होटल और चंडीगढ़ में एक आलीशान कोठी भी है। कई लग्जरी वाहन भी हैं। सूत्रों के अनुसार वहीं से नकली शराब का पूरा कारोबार…

Read More

बाबा बालक नाथ मंदिर न्यास ने ट्रस्टियों के मानदेय पर खर्च कर दिया लाखों का चढ़ावा

बाबा बालक नाथ मंदिर न्यास ने ट्रस्टियों के मानदेय पर खर्च कर दिया लाखों का चढ़ावा

हमीरपुर उत्तर भारत के प्रसिद्ध सिद्धपीठ बाबा बालक नाथ मंदिर में श्रद्धालुओं द्वारा चढ़ाई जाने वाली चढ़ावे की राशि की एक बड़ी रकम मंदिर न्यास के ट्रस्टियों पर खर्च की जा रही है। नियमों में मंदिर के ट्रस्टियों को न्यास की बैठकों में भाग लेने के लिए एक हजार रुपये प्रति बैठक मानदेय और बस किराया का प्रावधान है, लेकिन चौंकने वाली बात यह है कि कोविड-19 महामारी के दौरान बाबा बालक नाथ मंदिर न्यास ने ट्रस्टियों के मानदेय पर 7 लाख 58 हजार 298 रुपये फूंक डाले हैं। पिछले…

Read More