लाहौल में 56 बिजली परियोजनाओं का विरोध तेज, चमोली जल प्रलय से सबक लेने की दी नसीहत

लाहौल में 56 बिजली परियोजनाओं का विरोध तेज, चमोली जल प्रलय से सबक लेने की दी नसीहत

पड़ोसी राज्य उत्तराखंड के चमोली में जल प्रलय के बाद हिमाचल प्रदेश के जनजातीय जिला लाहौल-स्पीति में प्रस्तावित 56 बिजली परियोजनाओं के खिलाफ लोगों ने मोर्चा खोल दिया है। जिले के सबसे बड़े गांव गोशाल और तांदी के लोगों ने बैठक कर सरकार को चमोली की घटना से सबक लेने की नसीहत दी है। परियोजनाओं को अनापत्ति प्रमाण पत्र (एनओसी) न देने का पंचायत से प्रस्ताव भी पारित कर दिया गया है। लोगों ने मांग की है कि चंद्रभागा नदी पर प्रस्तावित पावर प्रोजेक्टों को रद्द किया जाए।  छह माह…

Read More

Himachal Weather: अटल टनल रोहतांग बहाल, उच्च पर्वतीय भागों में फिर बर्फबारी के आसार

Himachal Weather: अटल टनल रोहतांग बहाल, उच्च पर्वतीय भागों में फिर बर्फबारी के आसार

हिमाचल प्रदेश के उच्च पर्वतीय जिलों में मंगलवार को बर्फबारी होने के आसार हैं। मौसम विज्ञान केंद्र शिमला ने किन्नौर, लाहौल-स्पीति सहित कुल्लू जिले के ऊंचाई वाले क्षेत्रों में मंगलवार को मौसम खराब रहने की संभावना जताई है। प्रदेश के अन्य क्षेत्रों में मौसम साफ रहने का पूर्वानुमान है। प्रदेश में 14 फरवरी तक धूप खिलने के आसार हैं। उधर, बीते दिनों हुई बर्फबारी के बाद अभी भी जनजीवन पूरी तरह पटरी पर नहीं लौटा है। अटल टनल रोहतांग को बहाल कर दिया गया है। हालांकि, अभी सैलानी टनल का…

Read More

लकड़ी के खंभों पर टिके मृकुला देवी मंदिर के अस्तित्व को खतरा

लकड़ी के खंभों पर टिके मृकुला देवी मंदिर के अस्तित्व को खतरा

लाहौल के उदयपुर में प्राचीन मृकुला देवी मंदिर का अस्तित्व खतरे में है। मंदिर एक दर्जन से अधिक लकड़ी के खंभों के सहारे टिका हुआ है। अधिक बर्फबारी और भूकंप के झटकों से मंदिर को नुकसान हो सकता है। यदि समय रहते मरम्मत नहीं की तो मंदिर के भीतर लकड़ी पर उकेरी गई रामायण की नक्काशी और कलाकृतियां भी खराब हो सकती हैं।  समर सीजन शुरू होते ही अटल टनल रोहतांग के रास्ते देश के कोने-कोने से सैलानी भी मृकुला देवी मंदिर उदयपुर पहुंचे और आने वाले समय में भी…

Read More

शराब खरीदने और बेचने पर इस गांव में लगा प्रतिबंध, उल्लंघन पर 1000 जुर्माना

शराब खरीदने और बेचने पर इस गांव में लगा प्रतिबंध, उल्लंघन पर 1000 जुर्माना

हिमाचल प्रदेश की शीत मरुस्थल स्पीति घाटी के खुरिक गांव की महिलाओं ने अनोखी मिसाल पेश की हैै। यहां के महिला मंडल ने एक प्रस्ताव पारित कर गांव में देशी शराब बनाने, खरीदने और बेचने पर पूर्ण प्रतिबंध लगा दिया है। अगर कोई ग्रामीण इस प्रस्ताव का उल्लंघन करता है तो उसे 1000 रुपये जुर्माने का प्रावधान किया गया है। यही नहीं, 48 परिवारों की आबादी वाले इस गांव में अंग्रेजी शराब की कोई दुकान भी न खुलने देने का फैसला लिया गया। पंचायत में नशाबंदी के बोर्ड भी लगा…

Read More

विश्वविख्यात चंद्रताल झील का दीदार करने के लिए ऑनलाइन लेना होगा परमिट

रोहतांग (लाहौल-स्पीति) अटल टनल रोहतांग के लोकार्पण के बाद समर सीजन के लिए लाहौल प्रशासन ने कमर कस ली है। घाटी को साफ-सुथरा रखने के साथ पर्यावरण की सुरक्षा के लिए प्रशासन ने रणनीति बनाई है। लाहौल में पर्यटकों भारी भीड़ नहीं जुटने दी जाएगी। समुद्र तल से 4290 मीटर ऊंची विश्वविख्यात चंद्रताल झील का दीदार करने के लिए सीमित संख्या में ही सैलानी भेजे जाएंगे। इसके लिए पर्यटकों को स्थानीय प्रशासन से ऑनलाइन परमिट लेना होगा। दिन में 200 से 300 पर्यटक वाहनों को ही प्रवेश की अनुमति दी…

Read More

टशीगंग पोलिंग बूथ में मतदान करवाना किसी जंग से कम नहीं होगा

टशीगंग पोलिंग बूथ में मतदान करवाना किसी जंग से कम नहीं होगा

केलांग (लाहौल-स्पीति) हिमाचल प्रदेश में शीत मरुस्थल के नाम से विख्यात स्पीति घाटी में जनवरी में चुनाव करवाना प्रशासन और चुनाव आयोग के लिए बड़ी चुनौती साबित हो सकता है। समुद्रतल से 4650 मीटर की ऊंचाई पर स्थित दुनिया के सबसे ऊंचे मतदान केंद्र टशीगंग में पहली बार पंचायत चुनाव के लिए मतदान होगा। इससे पहले 4443 मीटर की ऊंचाई पर स्पीति का ही हिक्किम दुनिया का सबसे ऊंचा मतदान केंद्र था। स्पीति घाटी की लांगचा पंचायत के अंतर्गत टशीगंग को साल 2017 के विधानसभा चुनाव में पहली बार मतदान केंद्र…

Read More

हिमाचल में बर्फबारी से केलांग में पारा माइनस एक डिग्री

हिमाचल में बर्फबारी से केलांग में पारा माइनस एक डिग्री

रोहतांग/लाहौल-स्पीति/चंबा हिमाचल में लाहौल के ग्रामीण इलाकों में इस सर्दी की पहली बर्फबारी हुई है। इससे पहले मई के आखिरी सप्ताह में घाटी के ग्रामीण क्षेत्रों में ताजा हिमपात हुआ था। धौलाधार की ऊंची पर्वत शृंखलाओं, सीबी रेंज की पहाड़ियों, घेपन पीक सहित चंद्राघाटी के कोकसर, सिस्सू, खंगसर, गोंधला तथ्सस तोदघाटी के कालोंग, तिनो, योचे और दारचा के रिहायशी क्षेत्रों में दो से तीन सेंटीमीटर तक ताजा हिमपात हुआ है। रोहतांग और बारालाचा दर्रा में पांच सेंटीमीटर जबकि कुंजम दर्रा में चार सेंटीमीटर तक बर्फ गिरी है। इससे समूचे क्षेत्र…

Read More

हिमाचल प्रदेश की ऊंची चोटियों पर ताजा बर्फबारी

हिमाचल प्रदेश के

अक्तूबर के आखिरी सप्ताह में मौसम ने करवट ली है। हिमाचल प्रदेश के जनजातीय जिला लाहौल-स्पीति सहित ऊंची चोटियों पर ताजा बर्फबारी हुई है। रविवार रात को रोहतांग दर्रा, बारालाचा व कुंजुम दर्रा में करीब पांच सेंटीमीटर तक ताजा हिमपात हुआ है। वहीं, कोकसर और सिस्सू में हल्की बर्फबारी के साथ ओले भी गिरे। ऊंची चोटियों पर बर्फबारी होने से समूचा क्षेत्र ठंड की चपेट में आ गया है। हालांकि सोमवार को लाहौल-स्पीति व कुल्लू में हल्के बादल छाए हुए हैं। कुल्लू जिले में तीन माह से बारिश नहीं हुई…

Read More

यह बनेगी विश्व की सबसे लंबी रेल टनल

यह बनेगी विश्व की सबसे लंबी रेल टनल

लाहौल-स्पीति-लेह से सटे तंगलंग दर्रे को भेदकर 15134 फीट की ऊंचाई पर विश्व की सबसे लंबी रेल टनल बनेगी। सामरिक बिलासपुर-लेह रेल ट्रैक के लिए रोहतांग के बाद अब तंगलंग में 10.5 किलोमीटर लंबी टनल का निर्माण होगा। उत्तर रेलवे के टीम परियोजना निदेशक ने तुर्की और आईआईटी रुड़की के विशेषज्ञों के साथ स्पॉट विजिट किया। हालांकि अभी तक इस ऊंचाई पर सवा किलोमीटर लंबी रेल टनल बनाने का रिकॉर्ड चीन की क्यूटीआर रेलवे के नाम है। बता दें कि 475 किमी लंबे लेह ट्रैक का 51 फीसदी हिस्सा टनलों…

Read More

अटल टनल से भी लंबी शिंकुला टनल के लिए चिनूक करेगा हवाई सर्वे

अटल टनल से भी लंबी शिंकुला टनल के लिए चिनूक करेगा हवाई सर्वे

, केलांग (लाहौल-स्पीति) अटल टनल रोहतांग से भी साढ़े तीन किलोमीटर अधिक लंबी शिंकुला टनल के लिए हवाई सर्वे वायुसेना का सबसे अत्याधुनिक हेलीकाप्टर चिनूक करेगा। इस टनल के बनने से मनाली-कारगिल-लेह सड़क मार्ग में साल भर यातायात खुला रह सकेगा। 16600 फीट ऊंचे शिंकुला दर्रा के नीचे से 12 हजार फीट की ऊंचाई पर दुनिया की सबसे लंबी 13.5 किलोमीटर टनल होगी। अटल टनल रोहतांग समुद्र तल से 10040 फीट की ऊंचाई पर बनी है। टनल का निर्माण जल्द शुरू करने के लिए राष्ट्रीय उच्च मार्ग एवं अधोसंरचना विकास…

Read More