कोरोना काल में बागवानों को ऑनलाइन सुविधा शुरू

कोरोना काल में बागवानों को ऑनलाइन सुविधा शुरू

शिमला कोरोना काल में संक्रमण से बचाव के लिए पहली बार नौणी विवि ने बागवानों के लिए पौधों की डिमांड भेजने को ऑनलाइन सुविधा शुरू की है। बागवान डॉ. वाईएस परमार बागवानी विवि की वेबसाइट पर उपलब्ध करवाए गए आवेदन पत्र पर पौधों की डिमांड ई-मेल के जरिये भेज सकते हैं। इतना ही नहीं अगर इंटरनेट की सुविधा नहीं है तो डाक के माध्यम से भी डिमांड भेजी जा सकती है। अब तक बागवानों को पौधों की डिमांड देने के लिए विश्वविद्यालय या संबंधित केंद्रों तक खुद जाना पड़ता था।…

Read More

शूलिनी विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित प्रतियोगिता संपन्न, फार्मास्युटिकल साइंसेज विजेता व जैव प्रौद्योगिकी रनर-अप

शूलिनी विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित प्रतियोगिता संपन्न, फार्मास्युटिकल साइंसेज  विजेता व जैव प्रौद्योगिकी  रनर-अप

सोलन ई मान्चनत्र 2020 एक वार्षिक अंतर-विभागीय सांस्कृतिक प्रतियोगिता जो शूलिनी विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित की गई  सफलता पूर्वक संपन्न हुई। ऑवरऑल ट्रॉफी फार्मास्युटिकल साइंसेज के संकाय द्वारा जीता गया और जैव प्रौद्योगिकी विभाग संकाय द्वारा रनर-अप ट्रॉफी जीती गई । कुलपति शूलिनी विश्वविद्यालय  प्रोफेसर पीके खोसला ने विजेता विभागों को ट्रॉफी प्रदान की और सभी को उनके सर्वोत्तम प्रयासों के लिए बधाई दी। उन्होंने उन सभी संकायों और छात्रों के प्रयासों की भी सराहना की, जिन्होंने इस महामारी की मौजूदा स्थिति में उत्साह से भाग लिया। ई-मन्त्रतंत्र अंतर-विभाग प्रतियोगिता है जो…

Read More

शूलिनी विश्वविद्यालय की योगानंद गुरु श्रृंखला के दौरान क्रिकेटर हरभजन सिंह भज्जी ने कहा…..

शूलिनी विश्वविद्यालय की योगानंद गुरु श्रृंखला के दौरान क्रिकेटर हरभजन सिंह भज्जी ने कहा…..

सोलन भारतीय क्रिकेट टीम के सबसे सफल ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह, जिन्हें लोग प्यार से  भज्जी बुलाते है , ने शूलिनी विश्वविद्यालय की योगानंद गुरु श्रृंखला के तहत एक बातचीत के दौरान सामान्य रूप से क्रिकेट और जीवन के खेल के बारे में दिलचस्प जानकारी साझा की। हरभजन सिंह, जो वर्तमान में इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में चेन्नई सुपर किंग्स फ्रेंचाइजी के प्रमुख स्पिनर हैं, ने अपने क्रिकेट करियर से संबंधित कई किस्से साझा किए। उन्होंने कहा कि कैसे आत्म विश्वास व्यक्तिगत और पेशेवर जीवन में चमत्कार पैदा कर सकता…

Read More

बीबीएन में पानी और हवा हो गए हैं जहरीले

बीबीएन में पानी और हवा हो गए हैं जहरीले

बद्दी (सोलन) एशिया के सबसे बड़े फार्मा हब बीबीएन की आबोहवा फिर जहरीली होने लगी है। लॉकडाउन के दौरान संवर चुका पर्यावरण फिर से दूषित होने लगा है। अप्रैल में जहां हवा में पार्टिकल की मात्रा 49 थी, अब बढ़कर 125 तक पहुंच गई है। यह हवा सांस की बीमारी के रोगियों, बच्चों और बूढ़ों के स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है। बीबीएन के नदी-नालों का पानी भी दूषित होने लगा है। अप्रैल में सरसा नदी के पानी में बीओडी (बॉयोकेमिकल ऑक्सीजन डिमांड) की मात्रा 0.6 थी। अब सितंबर में 2.0…

Read More

भाजपा के बन गए दो धड़े, बगावत के सुर तेज

भाजपा के बन गए दो धड़े, बगावत के सुर तेज

शिमला अब कांग्रेस के कद्दावर नेता वीरभद्र सिंह के हलके में भाजपा के दो धड़े बन गए हैं। शिमला, कांगड़ा और मंडी के बाद अब सोलन भाजपा में भी बगावत के सुर तेज हो गए हैं। पिछली बार विधानसभा चुनाव में भाजपा के प्रत्याशी रहे रतन सिंह पाल को कोऑपरेटिव फेडरेशन का अध्यक्ष बनाने के बाद बवाल खड़ा हो गया है। उपेक्षा के बीच अर्की के पूर्व भाजपा विधायक गोविंद राम शर्मा के समर्थक अंदरखाते सक्रिय हो गए हैं। गोविंद राम शर्मा का पिछले विधानसभा चुनाव में अर्की का विधायक…

Read More

Session on Native American Literature concludes at Shoolini University

Session on Native American Literature  concludes at Shoolini University

Solan   ( VIRENDER KHAGTA) The 20th International Conference of the Society for the Multi-Ethnic Literatures of the World (MELOW), organised by Belletristic, the Literature Society of Shoolini University, concluded here today. Prof Brajesh Sawhney, a distinguished academician from Department of English, Kurukshetra University, delivered an illuminating talk on the literature of the first inhabitants of America. He highlighted the connection between nature and human life which comes across strongly in the stories of the Native Americans. Recounting the sad history of the indigenous people driven out of their lands and…

Read More

शूलिनी विश्वविद्यालय ने गैर-हिमाचली छात्रों के लिए शुरू किया हिम शोब्ला क्लब

शूलिनी विश्वविद्यालय ने गैर-हिमाचली छात्रों के लिए शुरू किया हिम शोब्ला क्लब

सोलन शूलिनी विश्वविद्यालय ने  सभी गैर-हिमाचली छात्रों को देवभूमि के करीब को लाने और राज्य की संस्कृति के बारे में जानने के लिए हिम शोला क्लब शुरू किया है। कुलपति  प्रो. पी. के. खोसला ने क्लब का उद्घाटन ऑनलाइन किया और कहा कि यह उन  सभी  गैर-हिमाचली छात्रों के लिए एक शानदार पहल है हिमाचल प्रदेश की विरासत संस्कृति और परंपराओं को जानने के लिए जो विश्वविद्यालय में अध्ययन कर रहे हैं। क्लब की फैकल्टी मेंटर सुश्री अंकिता वर्मा, असिस्टेंट प्रोफेसर, ने कहा कि धरोहरों का संरक्षण करना और हिमाचल…

Read More

शूलिनी विश्वविद्यालय ने एनसीसी, सोलन के सहयोग से “राष्ट्रीय शिक्षा नीति पर किया वेबिनार का आयोजन

शूलिनी विश्वविद्यालय ने एनसीसी, सोलन के सहयोग से “राष्ट्रीय शिक्षा नीति पर किया वेबिनार का आयोजन

सोलन शूलिनी विश्वविद्यालय ने मंगलवार को एक एचपी बॉयज़ बटालियन एनसीसी, सोलन के सहयोग से “राष्ट्रीय शिक्षा नीति (एनईपी), 2020” पर एक वेबिनार का आयोजन किया। वेबिनार का उद्देश्य एनसीसी कैडेट्स के साथ एनईपी के उद्देश्यों, प्रावधानों, कार्यान्वयन और अन्य महत्वपूर्ण पहलुओं के बारे में जानकारी साझा करना था। वेबिनार के बाद एनईपी से संबंधित एक प्रश्नोत्तरी थी, जिसमें लॉरेंस स्कूल, चितकारा यूनिवर्सिटी और बीएलसीपी, कुनिहार के कैडेटों को क्रमशः पहला,  दूसरा  और तीसरा स्थान मिला। विजेताओं को नकद पुरस्कार और प्रमाण पत्र दिए गए। बाद में वरिष्ठ अधिकारी, अंबिका…

Read More

हिमाचल की तीन और देश में बनी सात दवाइयों के सैंपल फेल उद्योगों को नोटिस जारी

हिमाचल की तीन और देश में बनी सात दवाइयों के सैंपल फेल उद्योगों को नोटिस जारी

बद्दी (सोलन) हिमाचल के फार्मा उद्योगों की तीन और देश में बनी सात दवाएं मानकों पर खरी नहीं उतरी हैं। केंद्रीय औषधि मानक नियंत्रण संगठन (सीडीएससीओ) के सितंबर के ड्रग अलर्ट में इसके सैैंपल फेल पाए गए हैं। इनमें बद्दी की दो और ऊना की एक फार्मा कंपनी शामिल है। सहायक दवा नियंत्रक डॉ. मनीष कपूर ने बताया कि तीनों उद्योगों को नोटिस जारी कर दिए हैं। साथ ही बाजार से स्टॉक वापस मंगा लिया है। संगठन ने सितंबर में देश की 646 दवाइयों के सैंपल लिए थे, जिनमें से 636…

Read More

शूलिनी विश्वविद्यालय, और वर्ल्ड सोसाइटी द्वारा आयोजित अंतर्राष्ट्रीय साहित्य सम्मेलन संपन्न

शूलिनी विश्वविद्यालय, और वर्ल्ड सोसाइटी द्वारा   आयोजित अंतर्राष्ट्रीय साहित्य सम्मेलन संपन्न

सोलन अंग्रेजी विभाग, शूलिनी विश्वविद्यालय, और वर्ल्ड सोसाइटी (MELOW) द्वारा   आयोजित   चार दिवसीय 20 वां अंतर्राष्ट्रीय  साहित्य मेलो सम्मेलन  सफलतापूर्वक रविवार को संपन्न हुआ। इस अनूठे सम्मेलन का विषय “400 साल का अमेरिकी साहित्य” था। सम्मेलन को ऑनलाइन आयोजित किया गया  और अमेरिकी साहित्य के क्षेत्र में प्रसिद्ध बुद्धिजीवियों और नए विद्वानों के बीच विचारों के आदान-प्रदान की सुविधा के  लिए बहुत सराहना की गई । सम्मेलन के 12 सत्रों के दौरान, विद्वानों, स्वतंत्र शोधकर्ताओं, शिक्षाविदों और प्रोफेसरों द्वारा चर्चा की गई जिन्होंने प्रमुख रूप से  अमेरिकी आंदोलनों, कल्पना, गैर-कल्पना,…

Read More