सरकारी नियम तोड़ने वाले स्कूल नपेंगे

बिलासपुर। नियमों को तोड़कर वार्षिक परीक्षा नजदीक होने के बावजूद वार्षिक उत्सवों का आयोजन करवाने वाले स्कूलों पर शिक्षा विभाग तल्ख हो गया है। ऐसे स्कूलों की सूची तैयार कर कार्रवाई की तैयारी की जा रही है। शिकायत मिलने पर बाकायदा उप निदेशक ने जवाब भी तलब कर दिया है। सरकारी स्कूलों में वार्षिक उत्सव करवाने की अंतिम तारीख विभाग ने 15 फरवरी तय की थी, मगर कई स्कूलों में इसके बाद भी कार्यक्रम चलते रहे।
अब शिक्षा विभाग ने स्कूल मुखियों पर कार्रवाई का मन बनाया है। स्कूल मुखियों को सरकारी नियमों की अवहेलना करने पर इसका लिखित तौर पर जवाब देना होगा। बाकायदा इसमें कारण बताना होगा। यदि कारण संतोषजनक नहीं पाया गया तो स्कूल मुखिया के खिलाफ कार्रवाई होगी। विभाग की ओर से इस बारे प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। यही नहीं, ऐसे स्कूलों की सूची तैयार कर बाकायदा निदेशालय को भी भेजी जाएगी। गौरतलब है कि चार मार्च से परीक्षाएं शुरू हो रही है। ऐसे में फरवरी महीने के अंतिम सप्ताह तक वार्षिक उत्सवों का दौर रहा। जागरूक अभिभावकों ने इस बारे नाराजगी जाहिर की थी। बच्चों की पढ़ाई बाधित होने की बात कहते हुए अभिभावकों ने मामला आला अधिकारियों तक पहुंचाया है। इस पर शिक्षा विभाग ने अब कड़ा संज्ञान लिया है। विभागीय सूत्रों के अनुसार जिला में अभी तक इस तरह की एक शिकायत मिली है। उच्च शिक्षा विभाग के उप निदेशक वीर सिंह नेगी ने कहा कि उन्हें अभी तक एक स्कूल की शिकायत मिली है। स्कूल मुखिया से लिखित तौर पर जवाब मांगा जाएगा। संतोषजनक कारण न होने पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

Related posts