संयुक्त राष्ट्र में कोई लोकतंत्र नहीं: बोलविया

न्यूयार्क: बोलविया के राष्ट्रपति इवो मोराल्स ने कहा है कि संयुक्त राष्ट्र में कोई लोकतंत्र नहीं है और अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ्)अमेरिका का एक आर्थिक औजार है।

मोराल्स ने बुधवार की रात न्यूयार्क स्थित संयुक्तराष्ट्र के मुख्यालय में संवाददाताओं से कहा कि संयुक्तर राष्ट्र के सभी सदस्यों सुरक्षा परिषद की हुकूमत नहीं चलती।

उन्होंने कहा, यह कैसी सुरक्षा परिषद है। हकीकत मे ंयह असुरक्षा परिषद बनकर रह गयी है। उन्होंने क्यूबा पर अमेरिका के प्रतिबंधों का जिक्र करते हुये कहा कि दो देशों को छोड़कर सभी राष्ट्र इसे हटाने के पक्ष में हैं।

ऐसे में प्रतिबंध हटाने के प्रस्ताव पर अमल क्यों नहीं कराया जा रहा है। इजराइल और अमेरिका ने इन प्रस्तावों को खारिज कर दिया और सभी देश उनकी इच्छा के आगे विवश हैं। यह क्या लोकतंत्र है।

मोराल्स ने कहा कि कुछ देश और बहुराष्ट्रीय निगम अपनी शर्ते तय करते हैं और जब चाहते हैं तब उन्हें हटा लेते हैं एवं लोगों को बगैर भोजन के छोड देते हैं।

ये निगम अमेरिकी सरकार के आदेश पर पूंजीवाद के एक औजार के रुप में इस्तेमाल किये जाते हैं। इससे केवल गरीबी और भूख को बढावा मिलता है।

Related posts