वन भूमि पर बने दो अवैध भवनों को हटाया

नादौन (हमीरपुर)। उपमंडल मेंदो गांवों में वन भूमि पर कब्जा कर बनवाए गए दो भवनों को न्यायालय के आदेशानुसार गिरा दिया गया है। भवनों को वन विभाग ने गिरवाया है। रेंज आफिसर नादौन, देसराज ने कहा कि उपमंडल के चौडू तथा कंडरोला पंचायतों में कार्रवाई के दौरान दो भवनों को गिराया गया है। उन्होंने कहा कि प्रीतम चंद पुत्र जौहंडू राम निवासी दरकेड, चौडू और रोशन लाल पुत्र सीहणू चंद ने 0.00.92 हेक्टेयर तथा रोशन लाल निवासी कंडरोला के पास 0.03-24 हेक्टेयर भूमि पर कब्जा कर रखा था।
इस भूमि पर दोनों ने अपने भवन बना रखे थे। वहीं विभाग के बीओ कुलबीर सिंह ने बताया कि टिकरू गांव के सूरम सिंह ने वर्ष 2008 में दरकेड के प्रीतम चंद पर वन भूमि पर कब्जा करने संबंधी शिकायत की थी। जबकि चौडू के दरकेड गांव के लगभग समस्त ग्रामीणों ने रोशन लाल द्वारा अवैध कब्जा करके रास्ता बंद करने की वर्ष 2005 में शिकायत की थी। शिकायत के बाद विभाग दोनों मामलों की कार्रवाई में जुट गया। वर्ष 2009 में न्यायालय ने इन दोनों आरोपियों को वन भूमि से कब्जा छोड़ने के आदेश जारी किए। उन्होंने बताया कि विभाग के बार-बार नोटिस भेजने के बावजूद दोनों भवन मालिक कब्जा नहीं छोड़ रहे थे। इसके चलते दोनों भवन मालिकों को गत 19 दिसंबर को अंतिम नोटिस दिया गया। न्यायालय के आदेशों की पालना न करने के कारण 28 दिसंबर को उक्त कार्रवाई की गई है। प्रीतम चंद ने अपना घर उक्त स्थल पर 1970-71 में बनवाया था। जबकि रोशन लाल ने 1972-73 में अपना घर उक्त स्थल पर बनवाया था। दोनों का ही कब्जा घरों के साथ लगती वन भूमि पर था। दोनों ही आरोपियों ने आगे अपील नहीं की थी।
रेंज आफिसर देस राज ने पुष्टि करते बताया कि जब दोनों ही स्थलों पर आरोपी अपना मलवा आदि उठा लेंगे, तो यहां पर विभाग द्वारा तार बंदी करके अपनी भूमि को पूरी तरह कब्जे में ले लिया जाएगा।

Related posts