अभी से जल संकट तो गर्मियों में क्या होगा

बंगाणा (ऊना)। उपमंडल के गांव कैहलवीं के लोग फरवरी माह में ही पानी की बूंद-बूंद को मोहताज होने लगे हैं। ग्रामीणों के मुताबिक एक माह से गांव में पीने के पानी की सुचारु रूप से सप्लाई नहीं मिल रही है। तीसरे दिन पानी की सप्लाई में भी एक घंटे से ज्यादा पानी गांववासियों को नहीं मिल पाता है। कैहलवीं गांव की जनता के मुताबिक फरवरी में ही ये हाल है तो मई और जून में इस गांव का क्या होगा? ग्रामीणों का कहना है कि विभाग के कर्मचारियों एवं अधिकारियों को उनकी इस समस्या का बखूबी पता है, लेकिन आज तक कोई पुख्ता हल नहीं निकाला गया। गांव के लोगों में पवन देव, प्रकाश चंद, ज्ञान चंद, सुभाष चंद, रणजीत सिंह, राकेश कुमार, रविदत्त, दीपक, पिरथी चंद ने बताया कि हर साल गर्मियों में उन्हें पेयजल संकट से जूझना पड़ता है। यह सिलसिला पिछले कई साल से चला आ रहा है, लेकिन विभागीय अधिकारियों ने उनकी इस समस्या को कभी भी संजीदगी से नहीं लिया। उधर, तलमेहड़ा पंचायत के गांव राजपुरा के निवासी भी काफी दिनों से पानी की समस्या को लेकर परेशान हैं। उधर, आईपीएच विभाग के अधिशासी अभियंता हरिंद्र भारद्वाज तथा एसडीओ वीवी गुप्ता ने बताया कि पीछे से सप्लाई ठीक चली हुई है। पानी न आने या कम आने के कारणों का पता लगाकर कैहलवीं तथा राजपुरा के ग्रामीणों को जल्द ही पानी की समस्या से निजात दिलाई जाएगी।

Related posts