50 फीसदी कृषि उत्पादन प्रभावित

धौलाकुआं (सिरमौर)। बेहडे़वाला क्षेत्र में दो सालों से बंद पड़े ट्यूबवेल के चलते किसानों को भारी घाटा उठाना पड़ रहा है। लोगों का दावा है कि ट्यूबवेल न चलने से 50 फीसदी कृषि उत्पादन प्रभावित हुआ है।
ट्यूबवेल खराब होने से क्षेत्र की 500 बीघा जमीन के बंजर होने का खतरा है। हालांकि उपकरण के खराब होने से कई सिंचित वाली जमीन बंजर हो चुकी है। वहीं विभाग का कहना है कि ट्यूबवेल का प्राक्कलन तैयार कर उच्च अधिकारियों को भेज दिया है। स्वीकृति मिलने पर काम शुरू कर दिया जाएगा। विभाग ने दावा किया है कि शीघ्र ही लोगों को लाभ पहुंचेगा। बेहड़ेवाला गांव में 50 परिवारों की उपजाऊ भूमि सिंचित करने के लिए एक योजना का लक्ष्य बनाया था। दो दशक पहले विभाग ने उठाऊ सिंचाई योजना का निर्माण करवाया था। पूर्व में इस क्षेत्र में फसलें लहलहाती थी। लेकिन सिंचाई योजना ठप होने से खेतों से हरियाली गायब है।
किसान प्रकाश सिंह, गुरबख्श सिंह, माया राम, टहल सिंह, रघुवीर सिंह, रमेश चंद, कमल सिंह, पवन कुमार, नेक राम व बेली राम आदि ने बताया कि उनके यहां दो वर्षो से यह योजना ठप पड़ी हुई है। यहां के किसान मोल का मंगा पानी लेकर अपने खेतों की सिंचाई कर रहे हैं। किसानों का कहना है कि उनके क्षेत्र में फसलों की पैदावार 50 प्रतिशत प्रभावित हुई।
विभाग के सहायक अभियंता सुनीत कटोच ने बताया कि योजना के अंतर्गत आने वाले जल स्त्रोत अचानक बंद होने के कारण समस्या सामने आई है। पुरानी योजना को दोबारा चालू किया जा रहा है। उच्च अधिकारियों से स्वीकृति मिलते ही योजना को चालू करने के लिए फिर से निर्माण किया जाएगा।

Related posts