सड़क हादसे के दोषी को दो साल कैद

ऊना। मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी राजेश तोमर की अदालत ने सोमवार को एक अहम फैसला सुनाते हुए सड़क दुर्घटना के मामले में टक्का निवासी शाम लाल को दो साल की कैद और छह हजार रुपये जुर्माना अदा करने की सजा सुनाई है। सहायक जिला न्यायवादी नवीन कुमार ने बताया कि 21 मई 2004 को सुनीता देवी पत्नी सुनील कुमार निवासी कलोहा देहरा जिला कांगड़ा ने ऊना थाने में शिकायत दर्ज करवाई थी कि वह रात के समय ऊना के ही नंदा अस्पताल से दवाई लेकर बस अड्डे की तरफ जा रही थी। सुनीता देवी के साथ उसका पति सुनील कुमार, बहन सुरजीत कौर एवं उसकी लड़की शुशांक बस अड्डे की तरफ जा रहे थे तो पीछे से एक गाड़ी ने उसके पति को पीछे से टक्कर मार दी। इसके चलते उसके पति सुनील कुमार के सिर पर गहरी चोर्टें आइं। सुनील कुमार को क्षेत्रीय अस्पताल ऊना में भर्ती करवाया गया। सुनीता देवी की शिकायत पर पुलिस ने कार्रवाई करते हुए केस को अदालत में दायर किया। अदालत ने आईपीसी धारा 304 ए के तहत दो साल की कैद एवं पांच हजार रुपये जुर्माना की सजा सुनाई। आईपीसी की धारा 279 के तहत आरोपी युवक शाम लाल को छह माह की कैद एवं एक हजार रुपये जुर्माना किया। जुर्माना न अदा करने पर एक माह की अतिरिक्त कैद भुगतनी होगी।

Related posts