वन विभाग का अवैध कटान पर शिकंजा

बरठीं (बिलासपुर)। वन परिक्षेत्र झंडूता के अधिकारियों ने अवैध कटान के खिलाफ शिकंजा कस दिया है। क्षेत्र में हो रहे खैरों के अवैध कटान पर विभाग ने करीब साढ़े तीन लाख रुपये मुआवजे के रूप में एकत्रित किया है।
जानकारी के अनुसार वन परिक्षेत्र की विभिन्न वन वीटों में करीब 60 खैर के ठेकेदारों द्वारा अवैध कटान किया गया। इसके बाद विभाग ने विशेष टीमों का गठन किया। इसमें एसीएफ संजीव कुमार, झंडूता वन परिक्षेत्र अधिकारी नंदलाल, कलोल वन परिक्षेत्र अधिकारी मदन लाल, खंड अधिकारी लौकू राम, प्रेम लाल, प्यारे लाल शामिल हैं। इन्होंने सोमवार और मंगलवार को डाहड वन बीट का निरीक्षण किया। जिसमें स्थानीय लोगों की ओर से खैर के पांच पेड़ों पर आरी चलाई थी। टीम ने लकड़ी को अपने कब्जे में ले लिया और ग्रामीणों से 24800 रुपये मुआवजे के रूप में ले लिया है। अवैध कटान पर करीब साढे़ तीन लाख की जुर्माना राशि ठेकेदारों से एकत्रित की गई है। अवैध काटे गए 300 खैरों को उन्होंने अपने कब्जे में ले लिया है। उन्होंने कहा कि जो ठेकेदार खैरों को जड़ों से उखाड़ रहा है, उसके खिलाफ 250 रुपये प्रति खैर के हिसाब से डीआर काटी जा रही है।

Related posts