मकडयाह में महिला पर झपटा तेंदुआ

घुमारवीं (बिलासपुर)। वन विभाग के आदमखोर तेंदुए को मार गिराने के दावों के एक दिन बाद ही एक महिला पर तेंदुआ झपट पड़ा। तेंदुए के हमले से इलाके में दहशत है। जख्मी महिला को प्राथमिक उपचार के बाद चिकित्सकों ने घर भेज दिया है।
इलाके की मरहाणा और भपराल पंचायत में कुछ दिन पहले दो बच्चों को तेंदुए ने मार दिया था। ताजा घटनाक्रम में मरहाणा पंचायत के मकडयाह गांव की लीला देवी (43) पर सुबह करीब छह बजे तेंदुए ने हमला बोला। बताया जा रहा है कि महिला जैसे ही सुबह घर के कमरे से बाहर निकली तो घात लगाकर बैठा तेंदुआ उन पर झपट पड़ा। शोर मचाने पर तेंदुआ वहां से भाग खड़ा हुआ। हमले से महिला को काफी चोटें आई हैं। भराड़ी अस्पताल में प्राथमिक उपचार किया गया।
घायल लीला देवी ने बताया कि वह व उसका पति घर में अकेले ही रहते हैं। शुक्रवार सुबह करीब छह बजे वह उठ कर कमरे से बाहर निकली तो तेंदुए ने उस पर हमला कर दिया। मरहाणा पंचायत के प्रधान का कहना है कि दिन प्रतिदिन क्षेत्र में तेंदुए के हमला करने की घटनाएं बढ़ती ही जा रही हैं। इसके लिए विभाग को कारगार कदम उठाने चाहिए। उधर, भराड़ी अस्पताल में महिला के इलाज के दौरान उपस्थित रहे बीएमओ घुमारवीं डा. टीएस चंदेल ने बताया कि महिला के शरीर पर खरोंचों के निशान हैं जो तेंदुए के ही प्रतीत होते हैं। डीएफओ बिलासपुर डी आर कौशल ने कहा कि विभागीय अधिकारी मौके पर पहुंच गए हैं। आदमखोर तेंदुए को मारने के लिए लोकल शूटरों की टीम के लिए अनुमति मांगी है।
घुमारवीं उपमंडल की मरहाणा, भपराल, सलाओं, भराडी व पंतेहडा आदि पंचायतों के कई गांव के लोगों के लिए सिरदर्द बन चुके आदमखोर तेंदुए नेजिस जगह पर महिला को हमला कर घायल किया, उसी इलाके में तेंदुआ पहले भी दो छोटे छोटे बच्चों को शिकार बना चुका है। पिछले कई दिन से आदमखोर तेंदुआ इस इलाके में लोगों पर हमला कर चुका है। हालांकि विभाग ने परमाणु से प्रोफेशनल शूटरों की टीम को बुला कर एक तेंदुए को मार भी गिराया था, लेकिन उसके बाद भी आदमखोर तेंदुआ लोगों पर हमला करता रहा। लोगों की मांग पर विभाग ने पहले आदमखोर तेंदुए को मारने की अनुमति लोकल शूटरों को दे दी थी। लोकल शूटरों की टीम ने ही सलाओं के नजदीक तेंदुए को मार गिराया था।

Related posts