बिलासपुर में आधार कार्ड के लाभ गिनाए

बिलासपुर। यूआईडीएआई चंडीगढ़ एवं सूचना प्रौद्योगिकी विभाग हिमाचल प्रदेश शिमला के संयुक्त तत्वावधान में आधार कार्ड पर आधारित प्रत्यक्ष लाभ स्थानांतरण (डायरेक्ट बेनीफिट ट्रांसफर) प्लान पर बचत भवन बिलासपुर में कार्यशाला का आयोजन किया गया। क्षेत्रीय कार्यालय चंडीगढ़ के एडीजी विवेक कुमार ने आधार कार्ड बनाने की प्रक्रिया और इससे आम आदमी को पहुंचने वाले लाभ के बारे में जानकारी दी।
उन्होंने बताया कि बिलासपुर में 91 फीसदी लोगों के आधार कार्ड बन चुके हैं। इस कार्य में तीन एजेंसियां कार्य कर रही हैं। उन्होंने कार्यशाला में उपस्थित जिले के विभिन्न बैंकों के प्रबंधकों तथा अधिकारियों से आह्वान किया कि इस कार्य को एक मिशन के रूप में पूरा करे। डीबीटी के तहत लाभार्थी का बैंकों में शून्य बैलेंस के साथ खाता खोला जाता है। इसके बाद सरकार की ओर से चलाई जा रही योजनाओं के तहत लाभार्थी की राशि को उसके खाते में डाला जाएगा। उन्होंने सभी विभागों के अधिकारियों से आग्रह किया कि लाभार्थियों की सूची संबंधित बैंक कोे समय पर उपलब्ध करवाना सुनिश्चित करें। इस कार्य को और सरल बनाने के लिए आगामी समय में बायोमीट्रिक प्रणाली शुरू की जाएगी। डीबीटी के तहत 31 योजनाओं को लाया गया है। इनमें से 20 योजनाएं छात्रवृत्ति से संबंधित हैं। इस अवसर पर एडीएम बिलासपुर प्रदीप कुमार ठाकुर, उप निदेशक यूआईडीएआई क्षेत्रीय कार्यालय चंडीगढ़ कुलभूषण गोयल, उपनिदेशक सूचना प्रौद्योगिकी विभाग हिमाचल प्रदेश अनिल सेमवाल, जिला राजस्व अधिकारी बिलासपुर शशिपाल शर्मा, पीओ डीआरडीए बीसी भंडारी, उपनिदेशक शिक्षा विभाग वीर सिंह सहित अन्य मौजूद रहे।

Related posts