बड़सर कालेज में प्रवक्ताओं का टोटा

बड़सर (हमीरपुर)। राजकीय महाविद्यालय बड़सर में प्रवक्ताओं की कमी है। कालेज में प्रवक्ताओं 17 पदों को अन्य कालेजों में शिफ्ट करने से रिक्त पदों की समस्या बनी हुई है। कालेज प्रशासन को पीटीए से छह प्रवक्ताओं की नियुक्ति की पठन पाठन का कार्य चलाना पड़ रहा है। समस्या के समाधान के लिए कालेज प्रशासन ने शिफ्ट पदों को स्वीकृत कर भरने की मांग शिक्षा निदेशालय को भेजी है।
राजकीय महाविद्यालय बड़सर में प्रवक्ताओं के 32 पद स्वीकृत हुए थे। कालेज के शुभारंभ के समय साइंस कक्षाएं तथा कामर्स की कक्षाएं भी शुरू नहीं हुई थी। पूर्व सरकार ने कालेज से 17 पदों को अन्य कालेजों में शिफ्ट कर दिया। कालेज में अपना भवन बनने के बाद साइंस तथा कामर्स कक्षाएं शुरू कर दी गई हैं लेकिन शिफ्ट पदों के स्थान पर दो पोस्ट स्वीकृत नहीं हुई तथा न ही पदों को भरा गया, अन्य कालेजों में शिफ्ट किए गए पदों में अंग्रेजी प्रवक्ता के दो, भूगोल का एक, अर्थशास्त्र का एक, गणित के दो, संस्कृत का एक, रसायन विज्ञान के दो, जीव विज्ञान का एक, कामर्स का एक, समाज शास्त्र का एक, भौतिक विज्ञान के तीन पद तथा संगीत का एक पद शामिल है। वर्तमान में कालेज में प्राचार्य सहित तीन पद रेगुलर तथा छह पद अनुबंध आधार के प्रवक्ता हैं। एक पद ग्रांट इन एड के तहत एक पद पीटीए से भरा गया है। कालेज से शिफ्ट पदों के अलावा पांच पद रिक्त चल रहे हैं। इसमें एक हिंदी, एक भूगोल, एक राजनीतिक शास्त्र, एक जैव विज्ञान के प्रवक्ता का पद रिक्त है। कालेज से प्रवक्ताओं के पद शिफ्ट करने से अधिक समस्या बनी हुई है।
कालेज एससीए अध्यक्ष अनुज शर्मा ने कालेज में रिक्त पदों को भरने तथा शिफ्ट पदों को स्वीकृत करने की मांग उठाई है। कालेज प्राचार्य बीएस जसवाल ने बताया कि दिसंबर माह में रिक्त पदों तथा शिफ्ट पदों को दोबारा स्वीकृत करने की मांग शिक्षा निदेशालय को भेजी है।

Related posts