तीन प्रधानों और पंचायत सचिवों को नोटिस

कांगड़ा। विकास खंड कांगड़ा के कुछ पंचायत कार्यालयों में प्रधानों और सचिवों के अनुपस्थित रहने की लगातार आ रही शिकायतों पर बीडीओ ने कड़ा संज्ञान लिया है। बुधवार को बीडीओ शशि पटियाल ने कांगड़ा खंड के तहत पांच पंचायतों का औचक निरीक्षण किया। एक पंचायत में जहां ताला लटका था तो दो पंचायत कार्यालयों में न तो प्रधान उपलब्ध थे न ही सचिव। बीडीओ ने तीनों पंचायतों के प्रधानों व सचिवों को नोटिस जारी कर दिए हैं। तीन दिन के भीतर उनसे जवाब मांगा गया है। जवाब संतोषजनक न मिला तो अगली कार्रवाई के लिए रिपोर्ट तैयार कर विभाग के उच्च महकमों को भेज दी जाएगी।
बीडीओ ने कहा कि जब पंचायत कार्यालयों से प्रधान और सचिव ही नदारद रहेंगे तो जनता का काम कौन करेगा। यह भी तर्क दिया कि किसी कारणवश यदि प्रधान और सचिव का अन्यत्र दौरा हो तो कार्यालय के बाहर उन्हें नोटिस लगाकर जाना चाहिए। बुधवार को बीडीओ ने कांगड़ा के साथ सटी झिकली इच्छी, खोली, घुरकड़ी, घणा व इच्छी खास पंचायतों का औचक निरीक्षण किया। पंचायत कार्यालय खोली पर ताला लगा हुआ था। झिकली इच्छी व घणा के पंचायत कार्यालय तो खुले थे मगर पंचायत प्रधान और पंचायत सचिव अनुपस्थित पाए गए। झिकली इच्छी व घणा पंचायतों में चौकीदार ही कार्यालय में मौजूद थे। पंचायत कार्यालय से प्रधान व पंचायत सचिव दोनों ही नदारद थे। इन्हें नोटिस जारी कर दिया गया है। तीन दिन के भीतर पंचायत सचिवों व प्रधानों को नोटिस का जवाब कार्यालय में जमा करवाने के आदेश दिए गए हैं। घुरकड़ी व इच्छी खास पंचायतों में सब कुछ ठीक चल रहा था। पटियाल ने कहा कि कई पंचायतों में प्रधानों व पंचायत सचिवों के कार्यालयों से नदारद रहने की शिकायतें उनके कार्यालय को मिली हैं। यह अभियान आगे भी जारी रहेगा।

Related posts