टैक्स के विरोध में ट्रांस्पोर्टर लामबंद

नालागढ़ (सोलन)। बड़े और छोटे वाहनों के लिए अलग-अलग नियम व टैक्स के विरोध में छोटे वाहनों की आठ यूनियनों की एक संयुक्त यूनियन का गठन किया है। यूनियनों की बनी संयुक्त यूनियन के अध्यक्ष ऐस आपरेटर यूनियन बद्दी के जगदीश चंद को बनाया गया है। मैक्सिमो यूनियन बद्दी से निक्का राम को उपाध्यक्ष, श्रीराम सुपर ऐस यूनियन नालागढ़ से शाम लाल सिंगला को सचिव और सुपर ऐस यूनियन नालागढ़ से गुरदीप सिंह को कोषाध्यक्ष बनाया गया है।
एस आपरेटर यूनियन बद्दी से महिंद्र सिंह, राजकुमार, भूपिंद्र सिंह, ऐस ओ यूनियन नालागढ़ से लाभ सिंह, रमेश कुमार, कुलदीप सिंह, श्रीराम यूनियन नालागढ़ से अवतार सिंह, धर्मपाल, जय भोले सुपर ऐस नालागढ़ से गुरदीप सिंह, अमरप्रीत धीमान, सुखदेव सिंह, शिवशक्ति मैक्सिमो नालागढ़ से अजय शर्मा, नरेश कुमार, जोगिंद्र राणा, महादेव मैक्सिमो नालागढ़ से अजय कुमार, बशीर मोहम्मद, लाल मोहम्मद, महराज सेवा सोसायटी बद्दी से सतपाल, बालकराम, निर्मल सिंह, महादेव मैक्सिमो बद्दी से मोहन लाल, निक्का राम और गोपाल को सदस्य बनाया गया है।

उनसे 15 हजार, हमसे 60 हजार क्यों?
स्माल व्हीकल आपरेटर यूनियन को आर्डिनेशन कमेटी के चेयरमैन जगदीश चंद ने बताया कि केंद्र सरकार बड़ी गाड़ियों ट्रक-टैंपों से पूरे भारत का 15 हजार रुपये टैक्स ले रही है, लेकिन स्माल व्हीकल आपरेटर को उत्तरी भारत के 6-7 राज्य का 50-60 हजार रुपये सालाना टैक्स देना पड़ रहा है। ऐसी अनदेखी क्यों?

इसलिए हुआ गठन
नालागढ़ उपमंडल के पीरस्थान में आयोजित चुनाव लाभ सिंह की अध्यक्षता में हुए। उन्होंने बताया कि बड़ी गाड़ी ट्रक-टैपों को दिल्ली में एंट्री टाइम में अंदर जाने की अनुमति है, जबकि छोटी गाड़ियों को दिल्ली में भीतर जाने पर रोक है। इन मौलिक अधिकारों को प्राप्त करने के प्रति माननीय सर्वोच्च न्यायालय में सीधे मुकदमा करने के लिए सभी यूनियनों की एक संयुक्त यूनियन का गठन किया गया है।

Related posts