घुमारवीं में आधार कार्ड कार्यालय पर ताला

घुमारवीं/ भगेड़ (बिलासपुर)। जिला प्रशासन आधार कार्ड बनवाने बारे लोगों को जागरूक करने के लिए लाखों रुपए खर्च कर रहा है। केंद्र सरकार की इस महत्वाकांक्षी योजना के लिए विज्ञापनों और अन्य कार्यक्रमों पर भारी खर्चा हो रहा है लेकिन, आधार कार्ड बनाने वाले कर्मचारियों को वेतन के लाले पड़ गए हैं। तीन महीने से सेवा दे रहे आधार कार्ड कर्मियों को वेतन नहीं मिला। इससे क्षुब्ध कर्मचारियों ने हड़ताल कर दी है। इसका सीधा असर आम व्यक्तियों पर देखने को मिल रहा है।
घुमारवीं उपमंडल के अंतर्गत घुमारवीं स्थित आधार कार्ड कार्यालय पर ताला लटक गया है। आधार कार्ड बनाने का कार्य कर रहे कर्मचारी मानदेय न मिलने के चलते हड़ताल पर चले गए हैं। इसके चलते आधार बनाने के आ रहे लोगों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। कर्मचारियों में प्रेमचंद, अनीता कुमारी, सोमराज, राजेश, धनवीर, प्रेम कुमार ने कहा कि करीब तीन माह से उन्हें वेतन की अदायगी नहीं की गई है। इसके चलते उन्हें भी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि इस बारे जिला प्राधिकारी को अवगत करवाया गया था। इस दौरान उन्हें जल्द वेतन की अदायगी करने का आश्वासन मिला था। अभी तक कोई भी कार्रवाई नहीं की गई। जब तक उन्हें वेतन की अदायगी नहीं की जाएगी। तब तक कार्यालय में ताला ही लटका रहेगा। स्टेट हैड नवीन कुमार ने कहा कि कर्मचारी अपनी मर्जी से हड़ताल पर गए हैं। इन कर्मचारियों को 10 फरवरी तक वेतन की अदायगी कर दी जाएगी।
घुमारवीं में आधार कार्ड बनवाने आ रहे लोगों को मायूस होकर वापस जाना पड़ रहा है। यहां पर लोगों को आधार कार्ड कार्यालय में ताला लटका हुआ मिलता है। इस कारण कई लोग खाली हाथ ही घर वापस लौट रहे हैं।
स्थानीय लोगों में प्रेमलाल, सुभाष, दुर्गादास, श्रीराम, बाबू राम, मान सिंह, सुरेश कुमार, प्रेमलाल, आकांक्षा, रमनजीत, रेखा, वीना, मंजू, बलवीर, ममता ने कहा कि वह करीब तीन माह से आधार कार्ड बनवाने के लिए कार्यालय के चक्कर काट रहे हैं। उन्हें यहां पर ताला ही लटका हुआ मिलता है। इसमें उन्हें समय के साथ साथ पैसे का भी नुकसान उठाना पड़ रहा है। इस ओर कोई कदम नहीं उठाए गए। लोगों ने कहा कि प्रशासन को इस ओर कोई ठोस कदम उठाने की आवश्यकता है। ताकि लोगों को परेशानी का सामना न करना पड़े।

Related posts