गले सड़े खंभों पर लटक रहे बिजली के तार

नौहराधार (सिरमौर)। क्षेत्र के उलाना गांव और ग्राम पंचायत देवामानल के मुख्य देवामानला गांव में बिजली की तारें पुराने लकड़ी के खंभों में लटक रही हैं। ऐसे में कभी भी कोई बड़ा हादसा हो सकता है। देवामानल गांव में एक ही जगह करीब 70 घर हैं। पूरे गांव में लकड़ी के गलेे सड़े खंभाें में ही गुजर रही हैं। 30 वर्ष बीत जाने पर भी विद्युत विभाग ने पुराने खंभे नहीं बदले हैैैैैैं। वर्ष 2012 अप्रैल माह में एक पोल के सड़ने से तारें टूट कर जमीन पर बिखर गई थी। इससे राह चलती एक बच्ची घायल हुई थी, लेकिन विभाग ने उस घटना से भी सबक नहीं लिया है, अभी भी स्थिति जस की तस है। यही हाल उलाना गांव का है। जहां लकड़ी के एक खस्ता हाल खंभे से पूरे गांव को बिजली की सप्लाई दी गई है। यह खंभा भी कभी भी गिर सकता है। ग्रामीणों में देवामानल पंचायत के प्रधान अनिता पुंडीर, उप प्रधान अभिमन्यु पुंडीर, ब्रिजेश पाल, कमल, हेतेंद्र सिंह, चेतन चौहान, दिनेश चौहान आदि ने विद्युत विभाग से पुराने खंभों को बदल कर लोहे के खंभे लगाने की मांग की है। इस संबंध में एक्सईएन विद्युत मंडल राजगढ़ दिनेश गुप्ता ने बताया कि मामला संज्ञान में है। मौसम साफ होने पर तुरंत इन जगहों पर नए पोल लगा दिए जाएंगे।

Related posts