कंप्यूटर की स्क्रीन पर लड़ा जाएगा तीसरा विश्व युद्ध !

इंटरनेट क्रांति आने के बाद जीवन उन्नत तो हुआ है लेकिन इतना उन्नत नहीं कि जीवन और मृत्यु डिजिटल हो जाएं। लेकिन अगर अमे‌रिका की मानें तो अगला विश्व युद्ध मैदान की बजाय इंटरनेट यानी साइबरस्पेस में लड़ा जाएगा। अगर ऐसा होता है तो जान की बजाय संसाधनों और धन की क्षति पिछले युद्धों से ज्यादा और भयंकर होगी।

अमेरिका के रक्षा मंत्री लियोन पैनेटा ने कहा है कि भविष्य में युद्ध का मैदान साइबरस्पेस होगा क्योंकि हमलावरों ने बैंकों और अन्य वित्तीय संस्थाओं को निशाना बनाना शुरू कर दिया है और अब वे अमेरिका के पावर ग्रिडों और सरकारी प्रणाली को नष्ट करने की क्षमता विकसित कर रहे हैं।पैनेटा ने सैन्य प्रतिष्ठानों की अधिकता वाले वर्जीनिया के शहर नोरफोक में एक कार्यक्रम में कहा।।हमारे सामने साइबरस्पेस के रूप में युद्ध की एक नयी चुनौती मुंह बाए खडी है। हम इस पर ध्यान देने की जरूरत है क्योंकि भविष्य का युद्ध साइबरस्पेस में ही लडा जाएगा।

अमेरिकी बैंकों और वित्तीय संस्थानों पर हाल के दिनों में संदिग्ध ईरानी हैकरों लगातार हमले किए हैं। साइबर फाइटर्स आफ इज अददीन अल कासम नाम के एक संगठन ने दावा किया है कि उसने इस्लाम विरोधी वीडियो के विरोधस्वरूप अमेरिकी वित्तीय संस्थाओं को निशाना बनाया है।

Related posts

Leave a Comment