औद्योगिक क्षेत्रों में नहीं लग पाए फायर हाइड्रेंट

पांवटा साहिब (सिरमौर)। औद्योगिक क्षेत्र पांवटा साहिब में गर्मियों के दौरान हर वर्ष आगजनी से करोड़ों की क्षति हो रही है। आगजनी से निपटने को तुरंत पानी की जरूरत पड़ती है। गोंदपुर समेत पांवटा के औद्योगिक क्षेत्रों में कोई फायर हाइड्रेंट नहीं लग सके हैं।
फायर स्टेशन करीब 8 किलोमीटर दूर है। अग्निशमन वाहन पहुंचने से पहले ही, करोड़ों की क्षति हो चुकी होती है। अप्रैल से फायर सीजन शुरू हो रहा है लेकिन विभाग के पास स्टाफ का अभाव है। ऐसे में आगजनी से निपटने की तैयारियों का रब ही मालिक है।
पांवटा साहिब में गोंदपुर, रामपुरघाट, राजबन, सतौन, गिरिपार के खोड़ोंवाला, बद्रीपुर, हीरपुर, सूरजपुर, पुरुवाला, किशनपुरा, केदारपुर व कुंजा मतरालियों आदि क्षेत्रों में सैकड़ों छोटी बड़ी औद्योगिक इकाइयां हैं। गर्मियों के सीजन में आगजनी से हर वर्ष करोड़ों की क्षति होती रही है। आगजनी होने पर फायर स्टेशन को पांवटा के बीच क्षेत्र में लाने, फायर हाइड्रेंट लगाने व फायर स्टेशन में स्टाफ मुहैया करवाने को खूब आवाज उठती है लेकिन बाद में आवाज बुलंद करने की कोई जहमत नहीं उठाता। इस वर्ष अप्रैल माह से फायर सीजन शुरू हो रहा है लेकिन आगजनी से निपटने की तैयारियां नाकाफी हैं। विगत सप्ताह गोंदपुर की एक औद्योगिक इकाई में आगजनी से करोड़ों की क्षति हो चुकी है।
बाक्स…
फायर स्टेशन में रिक्त पड़े पद
पांवटा (सिरमौर)। फायर स्टेशन पांवटा (मालवा) केंद्र में लिडिंग फायर मैन की एक, फायर मैन की 6 व वाहन चालक के 2 पद रिक्त पड़े हैं। इस वक्त स्टेशन में एक फायर आफिसर, एक लिडिंग फायर मैन, दो-दो चालक व फायर मैन तैनात हैं। इसके अलावा 7 होमगार्ड जवान है। जिला सिरमौर में हर वर्ष सबसे ज्यादा आगजनी के मामले पांवटा क्षेत्र में होते हैं। इसलिए पांवटा में करीब दो से तीन दर्जन कर्मियों की जरूरत रहती है लेकिन स्थानीय केंद्र में अतिरिक्त कर्मियों की तैनाती तो दूर कर्मियों के रिक्त पद भी भरे नहीं जा रहे हैं।
उधर, फायर आफिसर पांवटा शिवानंद शर्मा ने कहा की क्षेत्र में 179 फायर हाइड्रेंट लगाने का प्राक्कलन आईपीएच विभाग को भेजा गया लेकिन 6 वर्ष बाद भी योजना कार्य शुरू नहीं हुआ। पांवटा शहर में लगे दशकों पुराने 5 हाइड्रेंट बदहाल है। इनको सीधे पेयजल आपूर्ति लाइन से जोड़ा गया है जिससे इनमें प्रेशर बेहद कम रहता है। अग्निशमन केंद्रों में रिक्त पदों बारे विभाग को अवगत करवा दिया गया है।

Related posts