आईएएस अफसरों की संपत्ति की जांच मांगी

रामपुर बुशहर। सर्व कर्मचारी, पेंशनर, श्रमिक एवं युवा बेरोजगार संयुक्त मोर्चा ने कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष वीरभद्र सिंह को छठी बार सीएम बनने पर बधाई दी है। मोर्चा अध्यक्ष गोपाल दास वर्मा ने कहा कि प्रदेश में कांग्रेस की जीत का पूरा श्रेय वीरभद्र सिंह को जाता है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस को वीरभद्र सिंह ही सत्ता में ला सकते थे, जो उन्होंने कर दिखाया। वर्मा रामपुर में पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। वर्मा ने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल ने वीरभद्र सिंह के खिलाफ षड्यंत्र के तहत सीडी प्रकरण को उछाला था, जिसमें पूर्व डीजीपी डीएस मिन्हास, आईएएस अधिकारी अरुण शर्मा और अजय मित्तल शामिल थे। उन्होंने कहा की जैसे ही वीरभद्र सिंह मुख्यमंत्री की शपथ लें वैसे ही इन लोगों पर जांच बिठाई जाए। उन्होंने कहा कि पूर्व डीजीपी डीएस मिन्हास के कार्यकाल के दौरान करोड़ों का वर्दी घोटाला हुआ है, जिसे पूर्व मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल ने अपने कार्यकाल के दौरान दबा दिया था। पूर्व डीजीपी पर इस मामले में एफआईआर दर्ज कर जल्द जांच आरंभ करनी चाहिए। साथ ही आईएएस अरुण शर्मा की संपत्ति की भी जांच होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि अब प्रदेश के भीतर लाखों बेरोजगारों को नौकरी के नए अवसर प्राप्त होंगे। उन्हाेंने सचिवालय में अराजपत्रित कर्मचारी महासंघ के कार्यालय का ताला तोड़ने की भी कड़ी आलोचना की है। उन्होंने कहा कि यह सब वीरभद्र सिंह को बदनाम करने का प्रयास है, जिसका मोर्चा विरोध करता है।

Related posts