31 हजार बच्चों को मिलेगी आयरन गोली

घुमारवीं/ भगेड़ (बिलासपुर)। हिमाचल प्रदेश सरकार बच्चों के स्वास्थ्य के प्रति संवेदनशील है। इसके लिए साप्ताहिक आयरन फोलिक एसिड सप्लीमेंटेशन कार्यक्रम का आयोजन किया गया है। राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला (छात्रा) घुमारवीं के प्रांगण में आयोजित कार्यक्रम के शुभारंभ अवसर पर मुख्य संसदीय सचिव राजेश धर्माणी ने लोगों को संबोधित किया। बताया कि इस कार्यक्रम का प्रदेश स्तर पर आठ मार्च को शुभारंभ हुआ है। इससे 352 स्कूलों के 31 हजार बच्चे लाभान्वित होंगे। विद्यार्थियों के साथ स्कूल के पूरे स्टाफ के लिए भी फोलिक एसिड की गोलियां उपलब्ध करवाई गई हैं। सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले 10 से 19 वर्ष के बच्चों को यह दवाई दी जाएगी। इससे पहले कार्यक्रम का शुभारंभ वंदेमातरम के साथ किया गया। स्कूली बच्चों के लोकनृत्य के अलावा समूह गीत आकर्षण के केंद्र रहे। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. सीआर वर्मा, एमओएच डा. आरआर भारद्वाज, बीएमओ घुमारवीं डा. टीएस चंदेल, उपनिदेशक उच्च शिक्षा बीर सिंह नेगी ने भी अपने विचार व्यक्त किए। नगर परिषद अध्यक्ष रीता सहगल, प्रवक्ता ब्लाक कांग्रेस सुमेश चड्ढा, नगर परिषद के पार्षद के अलावा गणमान्य लोग इस मौके पर उपस्थित रहे। इसके बाद मुख्य संसदीय सचिव राजेश धर्माणी ने अमरपुर पंचायत में मिड हिमालयन परियोजना पर आयोजित पब्लिक इंटरक्शन बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि घुमारवीं चुनाव क्षेत्र की दो पंचायतें अमरपुर और औहर इस परियोजना में शामिल की गई हैं। परियोजना का उद्देश्य प्राकृतिक संसाधनों जल, जंगल और जमीन में हो रहे विपरीत बदलाव की प्रक्रिया में कमी लाना है। इस मौके पर पंचायत प्रधान शैलजा शर्मा, क्षेत्रीय जलागम निदेशक बिलासपुर समीर कुमार रस्तोगी, मंडलीय जलागम विकास अधिकारी नम्होल जेएल टांक, संयोजक जलागम विकास अधिकारी झंडूता ने भी विचार व्यक्त किए।

Related posts