वन रक्षकों के आवेदनों से परेशान वन विभाग

चंबा। वन विभाग में वन रक्षकाें के पदों को भरे जाने की प्रक्रिया हुए बिना ही आवेदन आने शुरू हो गए हैं। भर्ती की अफवाह के चलते युवक डीएफओ कार्यालय में आवेदन कर रहे हैं। इससे विभाग के अधिकारी व कर्मचारी परेशान हैं। चीफ कंजरवेटर एआर रेड्डी ने युवकों को बिना किसी प्रक्रिया के आवेदन न करने की सलाह दी है। उन्होंने कहा कि वन रक्षकों की भर्ती अभी शुरू नहीं की गई है। इसके लिए विभाग वाकायदा समाचार पत्रों में विज्ञापन प्रकाशित करके आवेदन आमंत्रित करेगा। उन्होंने कहा कि निर्धारित तिथि से पहले आए सभी आवेदन स्वीकार नहीं किए जाएंगे। लिहाजा युवक मनमर्जी से आवेदन जमा न करवाएं और न ही बाजार में बिक रहे फार्म खरीदें। उन्होंने कहा कि कुछ बुक सेलर ऐसे फार्म बेच रहे हैं, जिसके चलते बेरोजगार आवेदन कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि विभाग के पास हर रोज 20 के करीब आवेदन पहुंच रहे हैं। विभाग अभी तक 100 के करीब आवेदनों को रिजेक्ट कर चुका है।
एआर रेड्डी ने बताया कि अनुमति मिलने के बाद ही वन रक्षकों के पदों को भरा जाना है। उन्होंने कहा कि चंबा सर्किल में फारेस्ट गार्ड के 39 पद भरे जाने हैं। इनमें 16 पद सामान्य वर्ग, एससी के छह, एसटी के दो, ओबीसी के छह, पांच एक्स सर्विसमैन व चार होमगार्ड्स के लिए रिजर्व हैं। उन्होंने कहा कि इन पदों को भरने के लिए हेड आफिस से अनुमति मांगी गई है। इसके बाद इनको भरने की प्रक्रिया शुरू हो पाएगी। लिहाजा इससे पहले आए आवेदन मान्य नहीं होंगे। उन्होंने बताया कि प्रदेश में फारेस्ट गार्ड के 463 पद रिक्त हैं। इसके अलावा फारेस्ट गार्ड्स की परमोशन होने के बाद भी कई पद रिक्त होने वाले हैं। इनकी भर्ती प्रक्रिया प्रदेश में एक साथ शुरू की जानी है। अभी तक लिखित व शारीरिक परीक्षा की तिथि व टीम तक तय नहीं हो पाई है।

Related posts