मौसम की पहली बर्फ़बारी से शीतलहर की आशंका

नयी दिल्ली:(वीरेन्द्र खागटा ) जम्मू-कश्मीर के मैदानी इलाकों के अलावा कई राज्यों में आज मौसम की पहली बर्फ गिरी। इससे उत्तर भारत के अधिकांश इलाकों में तापमान काफी कम हो गया और भीषण सर्दी से दो लोगों की मौत हो गई। उत्तराखंड में भी बर्फवारी और बारिश हो रही है।

आने वाले दिनों में उत्तर भारत के कई इलाके कड़ाके की सर्दी और शीतलहर की चपेट में आ सकते हैं। वहीं मौसम विभाग ने दिसंबर के आखिरी हफ्ते में दिल्ली में भी कोहरा गहराने की आशंका जताई है।

दिल्ली में अधिकतम तापमान 22 . 8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया और न्यूनतम तापमान 13 . 2 डिग्री सेल्सियस रहा जो सामान्य से पांच डिग्री अधिक अधिक है।

पुलिस ने कहा कि जम्मू शहर में ठंड से एक साधु और एक भिखारी की मौत हो गई। श्रीनगर सहित कश्मीर घाटी के अधिकतर हिस्सों में बर्फबारी कल देर शाम शुरू हुई और आज सुबह पूरी घाटी बर्फ की चादर से ढंक गई।

आज फिर से हिमपात हुआ जिसके कारण 294 किलोमीटर लंबा जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग बंद कर दिया गया । कश्मीर को देश के अन्य हिस्सों से जोडऩे वाली यह एकमात्र सड़क है।

मौसम विभाग के मुताबिक जवाहर टनल के पास 24 इंच बर्फबारी हुई है। वहीं गुलमर्ग में 18 इंच, पहलगाम में 8 इंच, कोकरनाग में 5 इंच, सोनमर्ग में 7 इंच तक बर्फबारी हुई है।

जम्मू में मां वैष्णोदेवी की गुफा वाली त्रिकूट पहाडि़यों पर आज मौसम की पहली बर्फबारी हुई। हालांकि श्रद्धालुओं की यात्रा जारी है। श्राइन बोर्ड के अधिकारियों ने बताया कि त्रिकूट पहाडि़यों और पास के इलाकों में चार इंच बर्फबारी हुई।

गढ़वाल और कुमाऊं की ऊंची पहाड़ियों पर शुक्रवार को फिर बर्फवारी होने और निचले इलाकों में रुक-रुक कर हो रही बारिश के कारण पूरे प्रदेश में भीषण ठंड का प्रकोप जारी है। उत्तराखंड में मसूरी के नजदीक धनोल्टी में बर्फ की मोटी चादर बिछ गई।

गढ़वाल में बद्रीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री, यमुनोत्री और औली तथा कुमाऊं में धारचूला और मुनस्यारी में ताजा हिमपात होने से वहां बर्फ की मोटी चादर बिछ गई और आसपास के इलाकों में ठिठुरन बढ़ गई।

मैदानों में कहीं मध्यम तो कहीं भारी बारिश हो रही है। मौसम की पहली बर्फबारी श्रीनगर समेत मैदानी इलाकों में हुई। स्थानीय फसलों के लिए बेहतरीन इस बर्फबारी से न सिर्फ किसानों के चेहरे चमक उठे बल्कि यहां पहुंचे सैलानियों की खुशी भी दोगुनी हो गई है।

मौसम विज्ञान विभाग के निदेशक आनंद शर्मा ने कहा कि जम्मू-कश्मीर के उपर पश्चिमी विक्षोभ और राजस्थान एवं आसपास के इलाकों में चक्रवाती सर्कुलेशन के कारण पहाड़ी राज्य में हिमपात और बारिश हो रही है। उन्होंने कहा कि चमोली और पिथौरागढ़ जिले में 3000 मीटर की उंचाई वाले स्थानों पर भारी बर्फबारी जबकि निचले इलाकों में बारिश हो रही है।

जबकि हिमाचल प्रदेश के मनाली और शिमला में भी शुक्रवार की सुबह मौसम की पहली बर्फबारी हुई। रास्ते में भारी बर्फ जमा होने से कई ग्रामीण इलाके शहर से कट गए। मौसम विभाग की मानें तो आने वाले दिनों में ये बर्फबारी पहाड़ी इलाकों में और बढ़ेगी। जिसका असर मैदानी इलाकों में पड़ेगा।

Related posts