मुशर्रफ ने खाई पाकिस्तान को बचाने की कसम

कराची: तालिबान से मिली जान से मारने की धमकियों और गिरफ्तार किए जाने की आशंका के बावूजद पूर्व सैन्य शासक परवेज मुशर्रफ करीब चार वर्षों का स्वनिर्वासन समाप्त कर वापस लौटे और कहा कि वह पाकिस्तान को ‘बचाने’ के लिए घर वापस आए हैं और वह अपने सामने आने वाली हर चुनौती का सामना करेंगे। अपने पार्टी ‘ऑल पाकिस्तान मुस्लिम लीग’ के कार्यकर्त्ताओं और पत्रकारों समेत करीब 150 लोगों के साथ 69 वर्षीय मुशर्रफ दुबई से अमीरेट्स की चार्टर्ड उड़ान से कराची के जिन्ना हवाई अड्डे पर पहुंचे।

उन्हें दुबई से कराची लेकर आने वाले विमान में मुस्कुराते हुए मुशर्रफ ने पत्रकारों से कहा, ‘यह एक बेहद भावुक क्षण है। मैं चार साल बाद लौट रहा हूं।’ सफेद सलवार-कमीज पहने विमान से निकलते हुए मुशर्रफ ने कहा, ‘बहुत सी चुनौतियां हैं। सुरक्षा चुनौतियां हैं, कानूनी चुनौतियां हैं, राजनीतिक चुनौतियां हैं लेकिन मैं उनका सामना करूंगा।’ अपने समर्थकों से बात करते हुए भावुक मुशर्रफ ने कहा, ‘वे लोग कहां हैं जिन्होंने कहा था कि मैं कभी घर वापस नहीं आऊंगा।

मुझे जान से मारने की धमकियां मिल रही थीं और कुछ लोग मुझे डराने की कोशिश कर रहे थे लेकिन मैं अपने देश और लोगों के लिए घर वापस आया हूं।’ पूर्व सैन्य कमडर व नेता मुशर्रफ ने कहा कि वह जल्दी ही पूरे देश में जनसभाओं और मीडिया के साथ बातचीत शुरू करेंगे। उन्होंने कहा, ‘मैंने घर वापसी में बहुत बड़ा खतरा उठाया है। लेकिन देश की हालत देखकर मेरी आंखों में आंसू आ गए। मैं पूछता हूं कि वह पाकिस्तान कहां है जिसे मैं पांच वर्ष पहले छोड़कर गया था।’

Related posts