बीपीएल कार्ड धारकों की होगी जांच

शिमला। नगर निगम ने शहर के बीपीएल कार्ड धारकों की जांच के आदेश दे दिए हैं। महापौर संजय चौहान ने सभी पार्षदों को उनके वार्डों के बीपीएल कार्ड धारकों का ब्योरा मुहैया करवाने के लिए आयुक्त को निर्देश दिए हैं। संबंधित पार्षद जांच कर अपने वार्ड के डिफाल्टर कार्ड धारकों की शिकायत आयुक्त को करेंगे। इस पर कार्रवाई करते हुए आयुक्त नगर निगम के कर्मियों को मौके पर भेजकर असल स्थिति का पता लगाएंगे। शहर में 1950 परिवारों के बीपीएल कार्ड बनाए गए हैं।
मनोनीत पार्षद अर्चना धवन ने बीपीएल कार्ड बनाए जाने में अनियमितता बरते जाने का मामला सदन में उठाया। उन्होंने कहा कि कार्ड बनाने वाली शाखा के अधिकारियों की कार्यप्रणाली जांची जानी चाहिए। पार्षद शैलेंद्र चौहान ने आरोप लगाया कि बीपीएल कार्ड बनाने में भारी गड़बड़ी हुई है। आरोप लगाया कि नगर निगम के कुछ कर्मचारियों तक के बीपीएल कार्ड बने हुए हैं। पार्षद सरोज ठाकुर ने कहा कि कार्ड बनाने वाले अधिकारियों का लोगों के प्रति रवैया भी ठीक नहीं है। पार्षद शशि शेखर चीनू ने कहा कि बीपीएल कार्ड धारकों में कौन असली और कौन नकली है, यह जांचा जाना जरूरी हो गया है। इस पर महापौर संजय चौहान ने सभी पार्षदों को अपने-अपने वार्ड की लिस्टें मुहैया करवाने के आदेश दिए। आयुक्त अमरजीत सिंह ने कहा कि पार्षदों द्वारा जिन-जिन कार्ड धारकों की शिकायत की जाएगी, उनकी नगर निगम जांच करेगा। कोताही बरतने पर दोषी अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई होगी।

Related posts