प्रोजेक्ट के विरोध में केंद्रीय मंत्री को ज्ञापन

आनी (कुल्लू)। एसजेवीएन के 775 मेगावाट के लूहरी प्रोजेक्ट का विरोध करते हुए ग्रामीणों ने केंद्रीय वन एवं पर्यावरण मंत्री को एसडीएम के माध्यम से ज्ञापन भेजा। संघर्ष समिति के अध्यक्ष दयाल वर्मा ने बताया कि ज्ञापन की प्रतियां प्रदेश के राज्यपाल, मुख्यमंत्री और उपायुक्त कुल्लू को भी भेजी गई हैं। ज्ञापन में समिति ने दो टूक कहा है कि उन्हें प्रोजेक्ट का प्रारूप मंजूर नहीं है। इस प्रारूप में प्रोजेक्ट की दो सुरंग बननी हैं, जिससे जहां सतलुज नदी का अस्तित्व मिट जाएगा। वहीं, इससे कई गांवों के लोगों को पेयजल समेत अन्य प्रकार के नुकसान झेलने पड़ेंगे। उन्होंने कहा कि प्रभावित इलाकों के लोग प्रोजेक्ट के विरोध में नहीं हैं। इनकी लड़ाई सिर्फ प्रारूप बदलने को लेकर है। समिति ने केंद्रीय मंत्री से आग्रह किया है कि वर्तमान प्रारूप से होने वाले नुकसान को गंभीरता से लेकर इसे रद किया जाए और प्रोजेक्ट का नए सिरे से प्रारूप तैयार करवाया जाएगा। अगर प्रारूप नहीं बदला गया तो इसका विरोध जारी रहेगा।

Related posts