पंजाब की तर्ज पर ही मिलेगा पे स्केल!

धर्मशाला। कांगड़ा केंद्रीय कोआपरेटिव बैंक के लगभग डेढ़ हजार कर्मियों को फिलहाल बढ़ा हुआ वेतनमान मिलने की उम्मीद नहीं है। रजिस्ट्रार आफ कोआपरेटिव सोसायटी ने स्पष्ट कर दिया है कि कांगड़ा बैंक सहित राज्य में संचालित अन्य सहकारी बैंकों को पंजाब स्टेट कोआपरेटिव बैंक की तर्ज पर ही वेतनमान मिलेगा। लेकिन, कर्मचारियों का दावा है कि सरकार को पंजाब स्टेट कोआपरेटिव बैंक का रिवाइज्ड स्केल भेजा गया है जबकि आरसीएस पुराने स्केल के तहत ही वेतनमान निर्धारित कर रहा है। फिलहाल रिवाइज्ड स्केल के बीच उलझे कांगड़ा बैंक प्रबंधन ने आरसीएस को इस पर विचार करने के लिए एक और प्रस्ताव भेज दिया है।
दूसरी ओर आरसीएस ने इस मामले को सुलझाने के लिए अतिरिक्त पंजीयक सहकारी सभाएं को जांच के आदेश दिए हैं। आरसीएस आरडी नजीम ने कहा कि सभी कर्मियों को पंजाब स्टेट कोआपरेटिव बैंक की तर्ज पर ही वेतनमान दिया जाएगा।
कांगड़ा बैंक प्रबंधन ने 24 फरवरी को आरसीसएस को रिवाइज्ड पे स्केल का प्रारूप भेजा था। इसे पहले तो स्वीकार कर लिया गया लेकिन बाद में 13 मार्च को इसे विड्रा कर लिया गया। कर्मचारियों को उम्मीद है कि पंजीयक सहकारी सभाएं इस पर जल्द कोई फैसला ले सकते हैं। यूनियन के महासचिव केसी ठाकुर का कहना है कि सरकार को पंजाब की तर्ज पर ही रिवाइज्ड स्केल भेजा गया है लेकिन किसी तरह की संवादहीनता के चलते इस पर गौर करने के बजाय पुराने पे स्केल को आधार माना जा रहा है। अगर इसका हल नहीं हुआ तो कर्मचारी आंदोलन को मजबूर हो सकते हैं।

मामला सुलझने के आसार : राणा
कांगड़ा केंद्रीय सहकारी बैंक के महाप्रबंधक जेएस राणा का कहना है कि प्रबंधन ने आरसीएस को नए स्केल पर विचार करने के लिए एक और प्रस्ताव भेजा है। उम्मीद है कि बहुत जल्द मामला सुलझ जाएगा। कर्मचारियों को उनके वेतनमान में कोई नुकसान नहीं होगा।

जीएम को छोड़ अन्य पदों के वेतनमान में बढ़ोतरी का प्रस्ताव
बैंक के जनरल मैनेजर को छोड़कर अन्य पदों पर तैनात डीजीएम, एजीएम, सीनियर मैनेजर से लेकर मैनेजर ग्रेड-2, थ्री, अकाउंटेंट, क्लर्क, कनिष्ठ लिपिक, ड्राइवर, दफ्तरी और चपरासी तक के वेतनमान में नए प्रस्ताव के तहत बढ़ोतरी प्रस्तावित है। अब सभी कर्मियों की नजर आरसीएस पर टिक गई है।

Related posts