चेक बाउंस के मामले में आरोपी बरी

मंडी। चेक बाउंस होने के मामले में अदालत ने एक व्यक्ति को बरी कर दिया। मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी मंडी मदन लाल ने विजय कुमार पुत्र परदेसी राम निवासी मकान नंबर 31 हाउसिंग बोर्ड कालोनी भ्यूली की ओर से की गई चेक बाउंस होने की शिकायत को धारा 138 एनआई एक्ट के तहत खारिज कर दिया। अदालत ने मामले के आरोपी नरेंद्र थापर केयर आफ थापर म्यूजिक बैंक इंदिरा मार्केट मंडी को बाईज्जत बरी कर दिया। शिकायतकर्ता विजय कुमार ने अपनी शिकायत में आरोप लगाया कि उसने नरेंद्र थापर को डेढ़ लाख रुपये उधार दिए थे, जिसे नरेंद्र थापर की ओर यह राशि चेक द्वारा वापस की गई थी। बचाव पक्ष के वकील राजेश शर्मा ने मामले की पैरवी करते हुए अदालत में यह साबित किया कि विजय कुमार ने डेढ़ लाख रुपये की बढ़ी रकम बिना किसी लिखित दस्तावेज, बिना किसी रसीद और बिना किसी गवाह के देना, जिसके साथ उसके कटुतापूर्ण संबंध हैं। ऐसे में शिकायत पत्र के तथ्यों पर शक पैदा करते हैं। राजेश शर्मा ने बताया कि दूसरे के खाली हस्ताक्षरित चेक का दुरुपयोग करना भारतीय दंड संहिता की धारा 406,417,420 और 468 के तहत अपराध है और उत्पीड़ित व्यक्ति ऐसे शिकायतकर्ता के विरुद्ध क्षतिपूर्ति का दावा करके हर्जाना प्राप्त कर सकता है।

Related posts