करूणामूलक नियुक्ति में हटे आय सीमा की शर्त

मंडी। इंटक जिला इकाई मंडी ओर से रविवार को प्रदेश भवन एवं अन्य निर्माण कामगार कल्याण बोर्ड के चेयरमैन बावा हरदीप सिंह का मंडी पहुंचने पर भव्य स्वागत किया गया। इस अवसर पर गांधी भवन में आयोजित बैठक में जिला इंटक की तरफ से लोक निर्माण विभाग, आईपीएच में कार्यरत कर्मचारियों की विभिन्न मांगों को लेकर बाबा हरदीप सिंह को 13 सूत्रीय मांग पत्र सौंपा। इंटक ने मांग की है कि करूणामूलक आधार पर नियुक्तियों के लिए आय सीमा की शर्त को समाप्त किया जाए।
बैठक में कामगार कल्याण बोर्ड के चेयरमैन बावा हरदीप सिंह ने कहा कि भाजपा सरकार के कार्यकाल में मजदूरों व कर्मचारियों का शोषण किया गया, लेकिन मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह के कुशल नेतृत्व में प्रदेश सरकार मजदूरों के हितों का पूरा ध्यान रखेगी। उन्होंने कहा कि मजदूर संगठनों की जो भी मांग है, उन्हें प्रदेश सरकार के समक्ष रखा जाएगा।
जिला इंटक प्रधान वाईपी कपूर ने लोक निर्माण विभाग व आईपीएच में कार्यरत कर्मचारियों की मांगों को लेकर बावा हरदीप सिंह को मांग पत्र सौंपा। इसमें कर्मचारियों को लिपिक वर्ग के समान वेतनमान व ग्रेड पे देने, आईटीआई होल्डर कर्मचारियों को पदोन्नति में पांच प्रतिशत कोटा, 10 साल का कार्यकाल पूरा कर चुके मजदूरों को मेट पद पर पदोन्नत, 30 दिन के भीतर मेडिकल भत्तों का भुगतान, सात साल के बाद दैनिक वेतन भोगी कर्मचारियों को नियमित करना, आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को 90 प्रतिशत वरिष्ठता के आधार पर सुपरवाइजर के पद पर तैनात करना, मनरेगा की दिहाड़ी 200 रुपये करने की मांग की गई। इस मौके पर इंटक के प्रदेश महासचिव सीता राम सैणी, हितेंद्र ठाकुर, अमर सिंह सकलानी, मूल राज, जिला महासचिव हेमराज मल्होत्रा, उपाध्यक्ष राम लाल, देव राज वर्धन, प्रेम सिंह गुलेरिया, टेक चंद राणा, धर्मपाल शर्मा, नारायण सिंह, बहादुर सिंह, नागेंद्र, सरवण कुमार, पुष्पराज, लता शर्मा, लाल सिंह, भूप सिंह ठाकुर, जय किशन वालिया, हरीश शर्मा आदि मौजूद थे।

Related posts