हेराफेरी : विजिलेंस ने की बड़ी कार्रवाई, श्रम बोर्ड के दो पूर्व अधिकारियों को धर दबोचा

हेराफेरी : विजिलेंस ने की बड़ी कार्रवाई, श्रम बोर्ड के दो पूर्व अधिकारियों को धर दबोचा

चंडीगढ़
पंजाब विजिलेंस ब्यूरो ने सरकारी फंड में हेराफेरी करने के आरोप में पंजाब श्रम कल्याण बोर्ड के दो पूर्व अधिकारियों को गिरफ्तार किया है। मंगलवार को विजिलेंस ब्यूरो के प्रवक्ता ने बताया कि जांच के आधार पर श्रम कल्याण बोर्ड के पूर्व उप-कल्याण कमिश्नर सुच्चा सिंह बांडी और पूर्व डिप्टी कंट्रोलर वित्त और लेखा (डीसीएफए) जगदीप सिंह सैनी को गबन करने और सरकारी खजाने को नुकसान पहुंचाने के मामले में गिरफ्तार किया गया है।

इसी केस में बोर्ड की लेखा सहायक हिना को विजिलेंस ब्यूरो पहले ही गिरफ्तार कर चुका है। मानव एनक्लेव खरड़ निवासी हिना ने इन दोनों अधिकारियों की मिलीभगत से इंटरनेट बैकिंग द्वारा सरकारी खजाने को 1,56,91,063 करोड़ रुपये का नुकसान पहुंचाया है। हिना ने यह सारा पैसा 172 अलग-अलग ट्रांजेक्शनों के जरिये अपने रिश्तेदारों के खातों में ट्रांसफर कर दिया था।
जांच के बाद यह पता चला कि सुच्चा सिंह बांडी और जगदीप सिंह सैनी ने कभी भी बैंक लेन-देन के साथ कैश बुक का मिलान नहीं किया। यह पाया गया कि ये दोनों अधिकारी सरकारी फंडों की हेराफेरी में शामिल थे। इस संबंध में ब्यूरो द्वारा पहले ही थाना खरड़ में आईपीसी की धारा 409, 420, 465, 467, 468, 471, और 120-बी के अंतर्गत मामला दर्ज किया जा चुका है।

 

Related posts