स्वास्थ्य विभाग का दावा : हिमाचल के किसी भी सैंपल में डेल्टा प्लस वैरियंट नहीं मिला

स्वास्थ्य विभाग का दावा :  हिमाचल के किसी भी सैंपल में डेल्टा प्लस वैरियंट नहीं मिला

शिमला
हिमाचल प्रदेश से जिनोम सिक्वेंसिंग जांच के लिए दिल्ली भेजे गए सैंपलों की रिपोर्ट आनी शुरू हो गई है। प्रदेश से भेजे गए 76 सैंपलों में डेल्टा वैरियंट मिला है। इसके अलावा 109 सैंपलों में यूके स्ट्रेन की पुष्टि हुई है। हिमाचल से दिल्ली स्थित नेशनल सेंटर फॉर डिजिजिज कंट्रोल लैब में भेजे गए 1113 सैंपलों में आधे से ज्यादा सैंपलों की रिपोर्ट आ गई है। 

स्वास्थ्य विभाग का दावा है कि अभी तक हिमाचल के किसी भी सैंपल में डेल्टा प्लस वैरियंट नहीं मिला है। आठ सैंपलों में कप्पा स्ट्रेन भी पाया गया है। राज्य में भी बाहरी देशों के स्ट्रेन प्रवेश कर चुके हैं। ऐसे में स्वास्थ्य विभाग की चिंताएं बढ़ गई हैं, क्योंकि पड़ोसी राज्य पंजाब में दो डेल्टा प्लस के वैरियंट मामले आए हैं। ऐसे में हिमाचल में भी इसकी संभावना बढ़ गई है कि कहीं पंजाब से यह वैरियंट यहां न पहुंच जाए। 

हिमाचल में भी डेल्टा प्लस वैरियंट आने की संभावना 
 हिमाचल प्रदेश में सैलानियों के पहुंचने का सिलसिला जारी है। पंजाब, हरियाणा, यूपी, दिल्ली, चंडीगढ़ समेत गुजरात और महाराष्ट्र से सैलानी यहां घूमने आ रहे हैं। ऐसे में जाने-अनजाने में डेल्टा प्लस वैरियंट के हिमाचल पहुंचने से भी नकारा नहीं जा सकता है। 

Related posts