सीडीएस रावत को अमेरिका-रूस ने कहा- सच्चा दोस्त

सीडीएस रावत को अमेरिका-रूस ने कहा- सच्चा दोस्त

नई दिल्ली।

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के पांचों स्थायी सदस्यों और सभी प्रमुख लोकतांत्रिक देशों के पास सीडीएस या उनके समकक्ष पद थे, हमारे पास नहीं। अंतत: 1 जनवरी 2020 को जनरल बिपिन रावत सीडीएस बने। वे रक्षा मंत्रालय के लिए प्रमुख सैन्य सलाहकार भी माने जाने लगे थे। इसका फायदा सेना के तीनों अंगों के आधुनिकीकरण और सैन्य खरीद को तेज करने में मिला। उनके नेतृत्व में सेना के तीनों अंगों और रक्षा मंत्रालय ने कई अहम योजनाएं शुरू हुईं और आगे बढ़ाई गईं। इनमें प्रमुख हैं –

सेना के तीनों अंगों के लिए 4 संयुक्त थियेटर कमान। इससे हथियारों की खरीद, युद्ध व आपात स्थितियों में थल, वायु व नौ सेना में समन्वय बेहतर होगा। हालांकि, यह सपना अधूरा रह गया।
समन्वय से फायदा मिला। आतंकी शिविरों पर बालाकोट हवाई हमले के दौरान 2019 में थलसेना ने आपात खरीद की, नौसेना ने निगरानी के लिए अमेरिकी कंपनी से प्रीडेटर ड्रोन लीज पर लिए और वायुसेना की मिसाइलों की खरीद प्रक्रिया में तेजी आई।
इस्राइल से चार एडवांस हेरॉन ड्रोन खरीद कर लद्दाख सेक्टर में चीन की हरकतों पर नजर रखने के लिए तैनात किए गए।
सेना के आधुनिकीकरण के लिए विदेशी और भारतीय कंपनियों में समझौते की अनुमति दी गई। इससे भारत में हथियारों का निर्माण तेज होगा।

अमेरिका-रूस ने कहा, सच्चा दोस्त पाकिस्तान ने भी जताया शोक
अमेरिका, रूस, चीन, पाकिस्तान समेत दुनिया के कई देशों के राजनयिकों ने सीडीएस बिपिन रावत को श्रद्धांजलि दी है।
अमेरिकी दूतावास : रावत अच्छे दोस्त व साझेदार थे। भारत के साथ रक्षा सहयोग बढ़ाने में उन्होंने अहम भूमिका निभाई। सितंबर में पांच दिवसीय अमेरिकी यात्रा के दौरान जनरल मार्क मिले के साथ सहयोग बढ़ाने पर चर्चा की। उनकी विरासत जारी रहेगी।
ब्रिटेन के उच्चायुक्त एलेक्स एलिस : रावत बहादुर सैनिक व बुद्धिमान व्यक्ति थे। हाल में, उन्होंने मेरी मेहमाननवाजी की थी।
रूसी राजनयिक लिकोले कुदाशेव : भारत ने सच्चा देशभक्त खो दिया। वह सेना के हीरो थे। द्विपक्षीय संबंधों को मजबूती देने और कूटनीतिक साझेदारी को बढ़ाने में उनकी अहम भूमिका थी।
ऑस्ट्रेलिया के उच्चायुक्त बेरी ओ फेरल : रावत के कार्यकाल में हमारे रिश्ते नए मुकाम तक पहुंचे। वह सच्चे मित्र थे।
फ्रांस के राजनयिक एमानुअल लिनेन : सच्चे दोस्त, अद्भुत नेतृत्वकर्ता व फ्रांस समर्थक के तौर हमेशा याद रहेंगे।
पाकिस्तानी सेना : ज्वाइंट चीफ ऑफ स्टाफ कमेटी के चेयरमैन जनरल नदीम रजा व चीफ ऑफ आर्मी स्टाफ कमर जावेद बाजवा ने भी रावत के निधन पर शोक जताया है।
यूएन महासचिव एंटोनियो गुटेरस : वे 2008-2009 में वह कांगो में यूएन शांति मिशन के ब्रिगेडियर कमांडर थे। श्रद्धांजलि।

Related posts