सियासी दलों में बढ़ सकती है टूट-फूट, ‘आप’ का अभियान करेगा भाजपा-कांग्रेस को परेशान,

सियासी दलों में बढ़ सकती है टूट-फूट, ‘आप’ का अभियान करेगा भाजपा-कांग्रेस को परेशान,

देहरादून
उत्तराखंड विधानसभा चुनाव नजदीक आने के साथ ही आप पार्टी अब प्रदेश के सियासी समीकरण को प्रभावित कर सकती है। 2013 की आपदा के बाद केदारनाथ पुनर्निर्माण से जुड़े कर्नल अजय कोठियाल को पार्टी प्रदेश में सामने लाने की तैयारी कर रही है। सैन्य परिवार बाहुल्य प्रदेश में अजय कोठियाल की सैन्य पृष्ठभूमि भी पार्टी की मदद कर सकती है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक चुनावी रैली में उत्तराखंड में सैनिक धाम को पांचवां धाम घोषित किया था। यह अकारण भी नहीं था। प्रदेश में पूर्व सैनिकों और सेना से जुड़े परिवारों की खासी संख्या है। इसी को देखते हुए भाजपा ने देहरादून में सैन्य धाम बनाने का एलान किया था तो कांग्रेस ने जवानों के सम्मान का अभियान छेड़ा था।

अब प्रदेश में आम आदमी पार्टी भी इसी राह पर चलती हुई दिखाई दे रही है। ‘आप’ की ओर से कर्नल अजय कोठियाल को प्रदेश में प्रमुख चेहरे की तरह पेश करने की तैयारी है। सूत्रों के मुताबिक कर्नल कोठियाल की सैन्य पृष्ठभूमि का भी पार्टी भरपूर उपयोग करने की तैयारी में है। आप का यह अभियान अब कांग्रेस और भाजपा को परेशान कर सकता है। 

अब सियासी दलों में बढ़ सकती है टूट फूट 
प्रदेश में विधानसभा चुनाव के नजदीक आने के साथ ही राजनीतिक उठापटक अब और तेज होने की संभावना है। कांग्रेस और भाजपा दूसरी पार्टियों के नेताओं को अपनी पार्टी में शामिल करने की शुरुआत कर भी चुकी हैं।

कर्नल कोठियाल को सामने लाने से आप पार्टी के स्तर पर भी इस तोड़ फोड़ की राजनीति में शामिल होने की संभावना बनेगी। कांग्रेस और भाजपा के नेताओं से संपर्क का दावा कर पार्टी यह संकेत दे भी चुुकी है। कर्नल कोठियाल इससे पहले पौड़ी गढ़वाल लोकसभा में भाजपा की तरफ से दावेदारी कर चुके हैं। हालांकि उस समय बात नहीं बन पाई थी और कर्नल कोठियाल ने चुनाव लड़ने से इनकार कर दिया था। 

कर्नल कोठियाल की पृष्ठभूमि
नाम – सेवानिवृत्त कर्नल अजय कोठियाल
जन्म – गुरदासपुर, पैतृक गांव- ग्राम चौंफा, जिला टिहरी गढ़वाल
वर्तमान में निवास – बसंत विहार देहरादून
जन्म तिथि – 26 फरवरी, 1968
शिक्षा – सेंट जोजेफ देहरादून, डीएवी पीजी कॉलेज से स्नातक
उपलब्धियां – दो बार के एवरेस्ट विजेता, एवरेस्ट अभियान का नेतृत्व किया, केदारनाथ पुनर्निर्माण में सक्रिय भूूमिका, नंदा देवी राजजात 2014 का संचालन, सेना के कई अभियानों को अंजाम दिय, यूथ फाउंडेशन के जरिए युवाओं को जोड़ा।

Related posts