समारोहों पर लगा ग्रहण, दिल्ली में अब प्रोटोकॉल से चलेगा बैंड-बाजा-बरात

समारोहों पर लगा ग्रहण, दिल्ली में अब प्रोटोकॉल से चलेगा बैंड-बाजा-बरात

नई दिल्ली
सिया बुधवार को दुल्हन बनने वाली हैं और अतुल दूल्हा। शादी धूमधाम से होनी थी। मंगलवार दोपहर तक दोनों परिवारों में जश्न का माहौल था। हर तरफ उत्सव ही उत्सव, कहीं पकवान बन रहा था, तो कोई अपने कपड़ों की सलीके से रख रहा था। शाम की मेंहदी की तैयारियां आखिरी दौर में थीं। तभी अचानक टीवी पर खबर चली कि दिल्ली में यलो एलर्ट लागू हो गया है। शादियां अब बैंक्वेट हॉल में धूमधाम से नहीं हो सकेंगी।

सूचना मिलते ही दोनों परिवारों में एक बारगी सन्नाटा छा गया। किसी को समझ में नहीं आया कि अब क्या होगा, सब सकते में थे। सबका दिमाग मेहमानों की लिस्ट में काट-छांट करने पर चला गया क्योंकि शादी अब घर में ही 20 लोगों के साथ करनी होगी। सभी के चेहरे मायूस हो गए। अब दोनों ही परिवारों को चिंता सताने लगी कि बुधवार को क्या होगा। सारे इंतजाम धरे के धरे रह गए।

दरअसल सिया और अतुल इस मामले में अपवाद नहीं हैं, दिल्ली के यलो अलर्ट में जाने के साथ ही अगले एक महीने में जिनकी भी शादियां हैं, उनकी समझ में नहीं आ रहा कि क्या करें। वजीरपुर में बैंक्वेट हॉल मालिक अजय मैनी ने बताया कि अशोक विहार की सुनीता सिंह ने बुधवार को बेटी के विवाह के लिए उनका बैंक्वेट हॉल बुक किया था। उनकी समझ में ही नहीं आ रहा है कि इतनी जल्दबाजी में वह बेटी के विवाह का इंतजाम कहां पर करें। 

पीतमपुरा में बैंक्वेट हॉल संचालक संजीव नागपाल ने ऐसी ही जानकारी दी, उन्होंने बताया कि एक मिश्राजी ने आज(बुधवार) को अपनी बेटी की शादी के लिए उनका हॉल बुक कराया था। शादी की सारी तैयारियां हो चुकी हैं, घर के अंदर शादी का कार्यक्रम चल रहा है, जब से उन्होंने यह सुना है कि बैंक्वेट हॉल में शादी नहीं हो पाएगी, वो बार-बार फोन कर रहे हैं। उनके पास उन्हें जवाब देने के लिए शब्द नहीं हैं।

पीतमपुरा के एक अन्य बैंक्वेट हॉल मालिक नवीन कुमार ने बताया कि 20 जनवरी से 20 फरवरी के बीच उनके यहां करीब 20 शादियों की बुकिंग हो रखी है। वो समझ नहीं पा रहे कि ऐसी स्थिति में क्या करें। रोहिणी के शक्ति टेंट व बैक्वेट हॉल मालिक मनु ने बताया कि अगले महीने 15 शादियों की बुकिंग उनके यहां है। दिल्ली में बैंक्वेट हॉल में शादी करने की रोक लगने के बाद अब उनके यहां बुकिंग कराए लोग मजबूरी में दूसरी जगह शादी करेंगे।

एनसीआर के बैंक्वेट हॉल की बल्ले-बल्ले
बैंक्वेट हॉल में शादी समारोह के आयोजन पर रोक लगने से एनसीआर के बैंक्वेट हॉल की बल्ले-बल्ले हो गई है, वहीं दिल्ली के बैंक्वेट हॉल मालिक इस फैसले से मायूस हैं। जबकि एनसीआर के बैंक्वेट हॉल मालिकों की बल्ले हो गई है। पीतमपुरा, वजीरपुर, रोहिणी, मायापुरी और अशोक विहार समेत पूरे दिल्ली में ऐसे अनगिनत बैंक्वेट हॉल हैं, जहां होने वाली शादियों पर ग्रहण लग गया है। पिछले लॉकडाउन में इन बैंक्वेट हॉल मालिकों ने तमाम बुकिंग का पैसा वापस किया था और जिनकी शादियां थीं, उन लोगों ने मजबूरन एनसीआर के अन्य शहरों गाजियाबाद, नोएडा, फरीदाबाद, गुरुग्राम जाकर जहां जिस रेट में बारातघर मिला वहां शादियां कीं। 

Related posts