सबसे कम उम्र की जिला परिषद अध्यक्ष बनीं मुस्कान

सबसे कम उम्र की जिला परिषद अध्यक्ष बनीं मुस्कान

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के गृह जिला बिलासपुर में भाजपा समर्थित जिप सदस्य के सिर अध्यक्ष का ताज सजा। महज 21 साल की मुस्कान हिमाचल प्रदेश की सबसे युवा जिला परिषद अध्यक्ष बनी हैं। मुस्कान ने अपनी प्रारंभिक शिक्षा राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला बरमाणा से पूरी की है। वह सिरमौर जिला के लॉ कॉलेज कालाअंब से अपनी बीए, एलएलबी के अंतिम वर्ष की पढ़ाई पूरी कर रही हैं।

उधर, भाजपा समर्थित जिला परिषद अध्यक्ष बनाने के लिए पार्टी को खूब पसीना बहाना पड़ा। खाद्य आपूर्ति मंत्री राजिंद्र गर्ग से लेकर विधायक सुभाष ठाकुर और प्रदेश प्रवक्ता रणधीर शर्मा को दिन-रात एक करना पड़ा। भाजपा के ही प्रेम सिंह ठाकुर जिप उपाध्यक्ष बने। 
मुस्कान ने 21 साल की उम्र में जिला परिषद अध्यक्ष बनकर इतिहास रचा है। मुस्कान ने बरमाणा वार्ड से बतौर निर्दलीय चुनाव लड़ा था। उन्होंने भाजपा प्रत्याशी को हराकर जीत हासिल की थी। मुस्कान को अपने पाले में लाने के लिए कांग्रेस और भाजपा दोनों दल प्रयास कर रहे थे।

मंगलवार को मुस्कान ने शिमला में सीएम जयराम ठाकुर के समक्ष भाजपा का दामन इस शर्त पर थामा था कि भाजपा उन्हें जिप अध्यक्ष बनाया जाए। बुधवार को भाजपा ने मुस्कान का नाम अध्यक्ष पद के लिए दिया। चुनाव में मुस्कान को 9 मत और कांग्रेस समर्थित प्रमिला वासु को पांच वोट मिले।

उपाध्यक्ष पद के लिए भाजपा समर्थित प्रेम सिंह ठाकुर को 8 वोट और कांग्रेस समर्थित ईश्वर दास शर्मा को 6 मत मिले। उपायुक्त ने जिला परिषद हाल में नव निर्वाचित अध्यक्ष और उपाध्यक्ष को पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई। डीसी रोहित जंवाल ने कहा कि मुस्कान प्रदेश की सबसे कम उम्र की प्रदेश की पहली जिला परिषद अध्यक्ष बनी हैं। 

बता दें जिला परिषद के चुनावों में बिलासपुर जिले के बरमाणा वार्ड से सबसे कम उम्र की प्रत्याशी साढ़े 21 वर्षीय मुस्कान ने बतौर आजाद उम्मीदवार 7,134 मत प्राप्त कर जीत अपने नाम की थी, अब वह जिला परिषद अध्यक्ष बन गई हैं। मुस्कान की प्राथमिकता महिला उत्पीड़न को लेकर आवाज उठाना व जन समस्याओं को दूर करने के लिए मुद्दों को उठाना है।

Related posts