शहीद अंकेश की पार्थिव देह पहुंची पैतृक गांव, पिता ने पगड़ी पहन किया बेटे का स्वागत

शहीद अंकेश की पार्थिव देह पहुंची पैतृक गांव,  पिता ने पगड़ी पहन किया बेटे का स्वागत

बिलासपुर
पार्थिव शरीर आते ही वहां शहीद अंकेश भारद्वाज अमर रहे के नारे लगने लगे। शहीद अंकेश के सम्मान में 300 फिट तिरंगा यात्रा दधोल से शुरू की गई है। इसके अलावा युवाओं ने बाइक रैली निकालकर शहीद को श्रद्धांजलि दी।

अरुणाचल प्रदेश हिमस्खलन में शहीद हुए बिलासपुर जिले के सेऊ गांव के 22 वर्षीय 19 जैक राइफलमैन अंकेश भारद्वाज की पार्थिव देह रविवार को उनके पैतृक जिले बिलासपुर पहुंच गई। यहां उनका स्वागत उनके पिता बांचा राम, केबिनेट मंत्री राजेंद्र गर्ग के साथ-साथ सैकड़ों क्षेत्रवासियों ने नम आंखों से किया। बांचा राम इस दौरान कोट, पेंट, टाई और सिर पर टोपी लगाए हुए थे।

पार्थिव शरीर आते ही वहां शहीद अंकेश भारद्वाज अमर रहे के नारे लगने लगे। शहीद अंकेश के सम्मान में 300 फिट तिरंगा यात्रा दधोल से शुरू की गई है। इसके अलावा युवाओं ने बाइक रैली निकालकर शहीद को श्रद्धांजलि दी।
बिलासपुर पहुंचा शहीद अंकेश भारद्वाज का पार्थिव शरीर
बिलासपुर पहुंचा शहीद अंकेश भारद्वाज का पार्थिव शरीर – फोटो : अमर उजाला
बिलासपुर जिला में प्रवेश करते ही शहीद की वीर देह के सम्मान में सैंकड़ों लोगों ने उन्हें नमन किया। युवाओं समेत महिलाओं और बुजुर्गों ने पुष्प वर्षा से शहीद का स्वागत किया। खाद्य आपूर्ति मंत्री राजेंद्र गर्ग के साथ मौके पर एसडीएम राजीव ठाकुर, डीएसपी अनिल सहित अन्य अधिकारी भी नम आंखों के साथ मौजूद हैं।

Related posts