लोकसभा चुनाव में कांग्रेस चारो खाने चित होने के कारण तलाशने के लिए पुनिया और रजनी करेंगे शिमला का रुख

लोकसभा चुनाव में कांग्रेस चारो खाने चित होने के कारण तलाशने के लिए पुनिया और रजनी करेंगे शिमला का रुख

हिमाचल की चारों सीटों पर कांग्रेस की हार के कारण जानने अगले सप्ताह पीएल पुनिया और रजनी पाटिल शिमला आएंगे। कांग्रेस हाईकमान ने हार की जांच के लिए दो सदस्यीय फैक्ट फाइडिंग कमेटी बनाई है। मुख्यमंत्री सुखविंद्र सिंह सुक्खू, उपमुख्यमंत्री मुकेश अग्निहोत्री, प्रदेश अध्यक्ष प्रतिभा सिंह समेत मंत्रियों-विधायकों और पार्टी पदाधिकारियों से हार के कारणों को लेकर रिपोर्ट ली जाएगी। पुनिया और रजनी को हिमाचल के अलावा दिल्ली-उत्तराखंड में हार के कारणों को जांचने का जिम्मा सौंपा गया है। जांच करने के बाद हाईकमान को रिपोर्ट सौंपी जाएगी। लोकसभा चुनाव में कांग्रेस ने इस बार लोक निर्माण मंत्री विक्रमादित्य सिंह को मंडी, विधायक विनोद सुल्तानपुरी को शिमला, पूर्व केंद्रीय मंत्री आनंद शर्मा को कांगड़ा और पूर्व विधायक सतपाल रायजादा को हमीरपुर संसदीय क्षेत्र से पार्टी प्रत्याशी बनाया था।

प्रदेश में कांग्रेस की सरकार होने के बावजूद एक भी सीट पर पार्टी जीत दर्ज नहीं कर सकी। भाजपा ने चारों सीटों पर जीत की हैट्रिक लगाई है। मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री के गृह संसदीय क्षेत्र हमीरपुर से भाजपा प्रत्याशी अनुराग ठाकुर ने लगातार पांचवीं जीत दर्ज की। लोकसभा चुनाव के दौरान प्रदेश के 68 विधानसभा क्षेत्रों में से 61 में भाजपा के प्रत्याशियों को अधिक मत प्राप्त हुए। मात्र सात विधानसभा क्षेत्रों में कांग्रेस प्रत्याशियों को बढ़त मिले। प्रदेश के बड़े कांग्रेस नेताओं के घरों में भी भाजपा आगे रही। कांग्रेस हाईकमान को लोकसभा चुनाव के दौरान हिमाचल प्रदेश से इस बार सीटें जीतने की उम्मीद थी। लेकिन पार्टी को यहां करारी हार का सामना करना पड़ा। हार के कारण क्या-क्या रहे, इसकी जांच के लिए अब हाईकमान ने दो केंद्रीय नेताओं को हिमाचल भेजने का फैसला लिया है। पार्टी सूत्रों ने बताया कि संभावित है कि अगले सप्ताह पुनिया और रजनी शिमला आएंगे।

Related posts