लाहौल स्पीति में बोर्ड परीक्षाओं पर संशय!

केलांग। बर्फबारी ने प्रदेश शिक्षा बोर्ड के साथ ही जनजातीय क्षेत्र के हजारों छात्रों की दिक्कतें बढ़ा दी है। बोर्ड परीक्षाएं शुरू होने में महज तीन दिन का समय रह गया है। 4 मार्च से दसवीं की गणित और जमा दो की अंग्रेजी विषय के पेपर होने जा रहे हैं। लाहौल स्पीति के परीक्षा केन्द्रों में अभी तक प्रश्न पत्र नहीं पहुंचे हैं। ऐसे में निर्धारित समय अवधि के भीतर परीक्षाओं का संचालन करना शिक्षा बोर्ड के लिए एक चुनौती बन गई है। दावा किया जा रहा है कि मौसम खुलने के बाद हेलीकाप्टर के जरिए प्रश्न पत्रों को लाहौल स्पीति पहुंचाया जाएगा। भारी बर्फबारी के कारण घाटी के भीतर बंद पड़े सड़कों के कारण प्रश्न पत्रों को जनजातीय जिला के सभी परीक्षा केन्द्रों तक पहुंचाना बोर्ड के लिए किसी चुनौती से कम नहीं है। सड़क मार्ग के जरिए परीक्षा केन्द्राें तक प्रश्न पत्रों को सड़क मार्ग से पहुंचाना जोखिम भरा हो सकता है। लाहौल-स्पीति में 17 परीक्षा केंद्रों में बोर्ड की परीक्षाओं का संचालन करवाया जाना है। स्पीति में लोसर, हंसा, किब्बर और सगनम परीक्षा केंद्र सड़क मार्ग के जरिए काजा से कटे हुए हैं। बोर्ड लाहौल स्पीति में इन परीक्षाओं को स्थागित कर सकता है। प्रदेश शिक्षा बोर्ड के सचिव राखिल काहनू ने बताया कि लाहौल स्पीति के परीक्षा केन्द्रों तक प्रश्न पत्र पहुंचाने के लिए उनके पास हेलीकाप्टर के सिवाए दूसरा कोई विकल्प नहीं है। मौसम यूं ही खराब रहा तो लाहौल स्पीति में बोर्ड की परीक्षाएं स्थगित करने पर विचार किया जाएगा। लाहौल स्पीति के विधायक रवि ठाकुर ने कहा कि प्रशभन पत्रों को सभी परीक्षा केन्द्रों में पहुंचाने के लिए वह बोर्ड़ और राज्य सरकार के लगातार संपर्क में हैं।

Related posts