रिपोर्ट : महंगाई की मार 29 फीसदी उपभोक्ताओं ने बंद किया एलपीजी सिलिंडर भरवाना

रिपोर्ट : महंगाई की मार 29 फीसदी उपभोक्ताओं ने बंद किया एलपीजी सिलिंडर भरवाना

शिमला
हिमाचल प्रदेश समेत देशभर में महंगाई की मार का असर दिखना शुरू हो गया है। नीति आयोग की हाल में आई एक रिपोर्ट में दावा किया गया है कि हिमाचल प्रदेश में 29 फीसदी कनेक्शन धारकों ने अपने एलपीजी सिलिंडर भरवाना बंद कर दिए हैं। हाल ही में नीति आयोग के सदस्य की हिमाचल प्रदेश में हुई बैठक के दौरान इस बात पर चर्चा हुई थी। बैठक में बताया गया कि प्रदेश में कुल 23 लाख गैस उपभोक्ता हैं। इनमें से 3 लाख कनेक्शन धारकों को हिमाचल प्रदेश की गृहणी सुविधा योजना और केंद्र सरकार की उज्जवला योजना के तहत गैस कनेक्शन के साथ निशुल्क गैस चूल्हा और सिलिंडर मुहैया कराया गया है। कुल उपभोक्ताओं में से 6.67 लाख ने सिलिंडर रीफिल कराना बंद कर दिया है।

सूत्रों के अनुसार इसके पीछे सिलिंडर के बढ़ते दामों को कारण माना गया है। साथ ही निशुल्क मिलने वाली लकड़ी की वजह से भी दोबारा भरवाने में कमी आई है। वर्तमान में गैस सिलिंडर के दाम 931 रुपये हैं जबकि  सब्सिडी करीब 31 रुपये की मिलती है। आयोग की रिपोर्ट में कहा गया है कि ग्रामीण क्षेत्रों में रीफिल न कराने का सबसे ज्यादा असर देखा गया है। उल्लेखनीय है कि हिमाचल प्रदेश सरकार ने केंद्र सरकार की उज्जवला योजना की तर्ज पर मुख्यमंत्री गृहिणी सुविधा योजना शुरू की थी। दोनों योजनाओं के जरिये लोगों को निशुल्क गैस कनेक्शन मुहैया कराए गए ताकि गृहिणियों को प्रदूषण से बचाया जा सके। लेकिन अब महंगाई की वजह से महिलाएं फिर से परंपरागत ईंधन की मदद से खाना बनाने को मजबूर हो गई हैं। 
बैठक में बताया गया कि प्रदेश में कुल 23 लाख गैस उपभोक्ता हैं। इनमें से 3 लाख कनेक्शन धारकों को हिमाचल प्रदेश की गृहणी सुविधा योजना और केंद्र सरकार की उज्जवला योजना के तहत गैस कनेक्शन के साथ निशुल्क गैस चूल्हा और सिलिंडर मुहैया कराया गया है।

Related posts