योगी सरकार ने चिह्नित किए 62 अपराधी, ढाई हजार करोड़ की संपत्ति जब्त, दो को फांसी समेत 41 को सजा

योगी सरकार में चिह्नित किए 62 अपराधी, ढाई हजार करोड़ की संपत्ति जब्त, दो को फांसी समेत 41 को सजा

लखनऊ
माफिया के आर्थिक साम्राज्य को ध्वस्त करने के लिए गठित की गई एंटी माफिया टास्क फोर्स ने अब तक 62 अपराधियों को चिह्नित कर उनसे ढाई हजार करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त की है। इनमें से 41 को अभियान चलाकर सजा भी दिलाई गई है। नौ की मुठभेड़ में मौत भी हुई है।

अपर पुलिस महानिदेशक कानून व्यवस्था प्रशांत कुमार ने बताया कि एंटी माफिया टास्क फोर्स का गठन मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर किया गया था। इसका परिणाम यह हुआ कि अब तक 21 मुकदमों में 12 माफि या व उनके 29 सहयोगियों को सजा दिलाई जा चुकी है। इनमें दो अपराधियों को मृत्युदंड की सजा भी शामिल है।

अब तक चिह्नित किए गए अपराधियों की 2524 करोड़ की संपत्ति जब्त की गई है या ध्वस्त की गई है। 70 अपराधियों को जिला बदर, 24 की जमानत निरस्तीकरण और 311 की हिस्ट्रीशीट खोली गई। जबकि 318 के शस्त्र लाइसेंस निरस्त कराए जा चुके हैं। प्रशांत कुमार ने बताया कि इस वर्ष अब तक मुख्तार अंसारी से जुड़े सात मामलों में चार्ज फ्रेमिंग की कार्रवाई की गई है। इसके अलावा आकाश जाट, कुंतू सिंह, मुनीर, योगेश भदौड़ा, सुंदर भाटी, अमित कसाना, एजाज, अजीत सिंह, विजय मिश्रा, अनिल दुजाना से संबंधित अपराधियों को अलग-अलग मामलों में दंडित कराया गया है।

Related posts