यूक्रेन-रूस युद्ध का समाचार टीवी पर देख छात्रा के दादा की दिल का दौरा पड़ने से मौत

यूक्रेन-रूस युद्ध का समाचार टीवी पर देख छात्रा के दादा की दिल का दौरा पड़ने से मौत

शिमला
नादौन उपमंडल की गौना पंचायत में एक दुखद मामला सामने आया है जहां यूक्रेन में पढ़ रही एक छात्रा के दादा की मृत्यु टीवी पर यूक्रेन-रूस के युद्ध का समाचार देखकर ह्रदयघात से हो गई। गौना की पायल यूक्रेन में एमबीबीएस कर रही है। उसके दादा रत्न चंद टीवी पर यूक्रेन में युद्ध के हालात के बारे में समाचार देख रहे थे कि तभी उन्हें हृदयघात आ गया। इससे उनकी मौत हो गई।

इस बीच रूस और यूक्रेन के बीच छिड़ी जंग के तनावपूर्ण माहौल के बीच यूक्रेन में एमबीबीएस की पढ़ाई कर रहे हिमाचल प्रदेश के प्रशिक्षु डॉक्टरों की वतन वापसी की कवायद तेज हो गई है। शुक्रवार को पश्चिमी यूक्रेन की बुकोवेनियन स्टेट मेडिकल यूनिवर्सिटी (बीएसएमयू) में पढ़ने वाले भारत के करीब 2000 प्रशिक्षु डॉक्टरों को सुरक्षित रोमानिया बॉर्डर पर पहुंचाया गया है। इनमें प्रदेश के करीब 150 प्रशिक्षु डॉक्टर शामिल हैं। सूचना है कि दो विशेष कारगो विमान से 500 प्रशिक्षु डॉक्टरों को शनिवार सुबह दिल्ली पहुंचाया जाएगा, जिसमें हिमाचली प्रशिक्षु भी शामिल होंगे। इससे अभिभावकों ने राहत की सांस ली है। रोमानिया की सीमा से मेडिकल यूनिवर्सिटी करीब 25 किलोमीटर की दूरी पर है। बताया जा रहा है कि 1500 प्रशिक्षु डॉक्टर शनिवार और रविवार को भेजे जाएंगे।

बीएसएमयू के सलाहकार डॉ. सुनील शर्मा नेे बताया कि भारतीय दूतावास व केंद्र सरकार के सहयोग से प्रशिक्षु डॉक्टरों को वहां से निकाला जा रहा है। शनिवार और रविवार को रोमानिया से दिल्ली के लिए विशेष विमान से प्रशिक्षु डॉक्टरों को लाया जा रहा है। विवि के 2000 प्रशिक्षुओं को रोमानिया बॉर्डर पर पहुंचाया जा चुका है, जिनमें 150 हिमाचली हैं। उन्होंने बताया कि दूतावास के निर्देशों का पालन करते हुए प्रशिक्षु डॉक्टर बसों के आगे भारतीय झंडा लगाकर रोमानिया की सीमा तक पहुंचे। यहां जांच के बाद उन्हें रोमानिया में प्रवेश मिल रहा है। उधर, बसों से उतरने के बाद बॉर्डर पर कतारों में लगकर विद्यार्थी कागजी औपचारिकताएं पूरी करवाते रहे और वतन वापसी के लिए बेकरार भी दिखे।

Related posts