युवाओं ने पोस्टर संग निकाला मार्च, दीप सिद्धू व लक्खा सिधाना को कहा देशद्रोही

युवाओं ने पोस्टर संग निकाला मार्च, दीप सिद्धू व लक्खा सिधाना को  कहा देशद्रोही

सोनीपत (हरियाणा)
कुंडली में टीडीआई से मंच तक निकाला गया मार्च, 120 से ज्यादा लोगों की रिहाई की मांग 
हरियाणा के युवाओं को चलने को कहा गया तो दीप सिद्धू व लक्खा सिधाना को देशद्रोही कहकर रिहाई की मांग गलत बताई 

ट्रैक्टर परेड के दौरान दिल्ली में बवाल के आरोपी दीप सिद्धू व लक्खा सिधाना के पोस्टर लेकर कुंडली बॉर्डर पर गुरुवार को मार्च निकाला गया। जहां उनके समेत करीब 120 किसानों व अन्य लोगों की रिहाई की मांग की गई। उस मार्च में हरियाणा के युवाओं को शामिल होकर साथ चलने को कहा गया तो युवाओं ने दीप सिद्धू व लक्खा सिधाना को देशद्रोही बताते हुए उनकी रिहाई की मांग का विरोध किया और उस मार्च में साथ चलने से इनकार कर दिया।  

गणतंत्र दिवस पर किसानों ने ट्रैक्टर परेड निकाली थी और इस दौरान दिल्ली में बवाल हो गया था तो लालकिला पर धार्मिक झंडा तक फहरा दिया गया था। जिसके बाद से दिल्ली पुलिस लगातार कार्रवाई कर रही है और दिल्ली में बवाल करने वालों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किए गए तो उनकी लगातार गिरफ्तारी हो रही है। इसको लेकर ही गुरुवार को कुंडली बॉर्डर पर कई संगठनों, सामाजिक कार्यकर्ताओं व महिलाओं ने मिलकर टीडीआई से मंच तक मार्च निकाला। 

उनके हाथ में दीप सिद्धू व लक्खा सिधाना तक के पोस्टर थे और यह बात वहां मौजूद हरियाणा के युवाओं को सही नहीं लगी। उन युवाओं को मार्च निकाल रहे लोगों ने साथ चलने को कहा तो हरियाणा के युवाओं ने साफ इंकार कर दिया। युवाओं ने दीप सिद्धू व लक्खा सिधाना जैसों को देशद्रोही बताते हुए उनके पोस्टर लेकर मार्च निकालने का विरोध कर दिया। जिसके बाद हरियाणा के युवाओं के बिना ही मार्च निकाला गया। वहां मार्च निकाल रहे लोगों ने कहा कि दिल्ली पुलिस काफी निर्दोष किसानों को गलत तरीके से फंसा रही है और उनको गिरफ्तार कर लिया गया है। इसलिए उनकी रिहाई की जाए और मुकदमे भी खत्म किए जाए।

Related posts