मैहतपुर मर्डर केस, 8000 में खरीदा था देसी कट्टा

ऊना। मैहतपुर में उद्योगपति विनोद कुमार जैन की गोली मारकर हत्या की वारदात में इस्तेमाल देसी कट्टा आठ हजार रुपये में खरीदा गया था। इसका सौदा उद्योगपति पर फायर करने के आरोपी राजीव ने ही किया था। कट्टे की खरीद उत्तर प्रदेश के सहारनपुर में हुई थी। यह डील हत्यारोपी राजीव ने ही की थी। पुलिस पूछताछ में यह खुलासा हुआ है। अब पुलिस उस व्यक्ति की धरपकड़ में लगी है, जिससे देसी कट्टा एवं कारतूस हत्या आरोपियों ने खरीदे थे।
पुलिस के मुताबिक जल्द ही एक टीम सहारनपुर जाएगी। जहां कट्टा हथियार बेचने वाले को धरा जाएगा। पुलिस केस के हर पहलू की बारीकी से जांच कर रही है। पुलिस पता लगा रही है कि आरोपियों ने देसी कट्टा यहीं मंगवाया था या फिर खरीददारी के लिए खुद सहारनपुर गए थे। बताया जा रहा है कि उद्योगपति विनोद कुमार जैन पर गोली दागने वाला राजीव इससे पहले भी देसी कट्टाें का सौदा करता आया है। क्षेत्र के लोग भी दबी आवाज में उसे सरेआम कट्टा लेकर कई बार घूमते हुए देखने की बात कह रहे हैं। कट्टे की खरीद-फरोख्त किस माह एवं किस तारीख को हुई, पुलिस इसकी भी जांच कर रही है। पुलिस अधीक्षक रविंद्र शर्मा ने बताया कि पुलिस पूछताछ में हत्या आरोपियों से कई जानकारियां जुटाई गई हैं। जिसका पटाक्षेप समय आने पर किया जाएगा।

आंखों का रंग बदलता है हत्या आरोपी
हत्या आरोपी राजीव की आंखों का रंग बदलता रहता है। गिरफ्तारी के बाद पुलिस को भी यह बात समझ नहीं आ रही थी कि आखिर माजरा क्या है। कभी उसकी आंखें नीली, कभी भूरी तो कभी बिल्कुल काली होती हैं। जब पुलिस ने हत्या मामले में कड़ी पूछताछ के दौरान उससे उसकी आंखों का राज पूछा तो हत्या आरोपी राजीव ने खुलासा किया कि वह आंखों में कांटेक्ट लैंस पहनता है। एसपी ने कहा कि हत्यारोपी के पास कांटेक्ट लैंस की चार जोड़ियां हैं।

वारदात से उपजी सनसनी बरकरार
उद्योगपति की गोली मार कर हत्या की वारदात से उपजी सनसनी बरकरार है। लोगों में चर्चा है कि महज दो लाख के लिए करोड़ाें रुपये का कारोबार करने वाले उद्योगपति की हत्या की गई। उसमें से भी महज बतौर पेशगी मिले 40 हजार ही हत्या आरोपियों के हिस्से आए थे। वे भी पुलिस ने बरामद कर लिए हैं। हत्या आरोपियों में तीन की उम्र 20-20 वर्ष है, जबकि मास्टरमाइंड प्रदीप कुमार गुप्ता 24 और अनिल कुमार उर्फ सेठू 28 साल का है।

Related posts