मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी, आज जन आशीर्वाद रैली से फूंकेंगे चुनावी बिगुल

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी, आज जन आशीर्वाद रैली से फूंकेंगे चुनावी बिगुल

देहरादून
प्रदेश के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी शुक्रवार को जन आशीर्वाद रैली के माध्यम से चुनावी बिगुल फूंकेंगे। इसके लिए वह बाबा कमलेश्वर का आशीर्वाद भी लेंगे। रैली के बाद वह राजकीय मेडिकल कॉलेज श्रीनगर की समीक्षा बैठक लेेंगे। कैबिनेट मंत्री डा. धन सिंह रावत समेत भाजपा के प्रांतीय पदाधिकारी कार्यक्रम की तैयारियों पर नजर रखे हुए हैं।

उत्तराखंड चुनाव 2022: आज परिवर्तन यात्रा से होगा कांग्रेस का चुनावी शंखनाद, खटीमा से करेगी प्रस्थान

कोटेश्वर से श्रीनगर तक करीब पांच किमी यात्रा में प्रतिभाग करेंगे सीएम
जानकारी के अनुसार, मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी सुबह 11 बजे हेलीकॉप्टर से जीवीके हेलीपैड कोटेश्वर पहुंचे। जहां  कैबिनेट मंत्री डॉ. धन सिंह रावत, विधायक मुकेश सिंह कोली, विनोद कंडारी, आयुक्त गढ़वाल मंडल रविनाथ रमन, जिलाधिकारी डॉ. विजय कुमार जोगदंडे, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक पी रेणुका देवी ने मुख्यमंत्री का स्वागत किया। इस दौरा कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज, डॉ. हरक सिंह रावत, प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक सहित अन्य गणमान्य लोग मौजूद रहे।

जिसके बाद जगह-जगह मुख्यमंत्री का स्वागत किया गया। इसके बाद कोटेश्वर से श्रीनगर तक करीब पांच किमी यात्रा में प्रतिभाग करेंगे। शाम को राजकीय मेडिकल कॉलेज श्रीनगर की समीक्षा बैठक लेंगे।

उत्तराखंड: कोविड-19 महामारी के चलते चारधाम यात्रा ठप, लेकिन चुनावी यात्राएं शुरू

मुख्यमंत्री के पहली बार आगमन को देखते हुए भाजपा कार्यक्रम को भव्य बनाने में जुटी हुई है। भाजपा के प्रदेश महामंत्री कुलदीप कुमार ने पत्रकार वार्ता में बताया कि सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं की जानकारी और उपलब्धियों को जन जन तक पहुंचाने के लिए जन आशीर्वाद रैली आयोजित की जा रही है।

भाजपा सरकार में जनता बढ़ती महंगाई से परेशान: प्रीतम 
वहीं नेता प्रतिपक्ष प्रीतम सिंह ने कहा कि भाजपा सरकार में जनता बढ़ती महंगाई से परेशान है। जबकि सबका साथ सबका विकास के वादे पर भी सरकार खरी नहीं उतर पाई है। नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी की जन आशीर्वाद यात्रा एवं चुनाव से पूर्व मुख्यमंत्री द्वारा की जा रही घोषणाएं सरकार की नीति और नियत को दर्शा रही हैं।

उन्होंने कहा कि जब से भाजपा सत्ता में आई महंगाई बढ़ती चली गई। उपनल कर्मचारियों से लेकर पंचायती राज कर्मचारी, आशा कार्यकर्ता, बेसिक शिक्षक, सचिवालय संघ के कर्मचारी आदि अपनी मांगों को लेकर संघर्ष कर रहे हैं। भाजपा ने प्रदेश को धरना प्रदेश बना दिया है।

Related posts