माहौल खराब करने वालों से सख्ती से निपटें अधिकारी, आतंकी मददगारों का नेटवर्क करें ध्वस्त : आईजी

माहौल खराब करने वालों से सख्ती से निपटें अधिकारी, आतंकी मददगारों का नेटवर्क करें ध्वस्त : आईजी

श्रीनगर

कश्मीर के पुलिस महानिरीक्षक विजय कुमार अधिकारियों से कहा है कि वे कश्मीर घाटी का शांतिपूर्ण माहौल खराब करने वालों के साथ सख्ती से निपटें। आईजी मंगलवार को गणतंत्र दिवस से पहले घाटी में सुरक्षा की स्थिति की समीक्षा कर रहे थे। कश्मीर के पुलिस नियंत्रण कक्ष में वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से मध्य कश्मीर के डीआईजी और श्रीनगर एसएसएसपी के साथ सुरक्षा समीक्षा बैठक में उन्होंने अधिकारियों से गणतंत्र दिवस के आयोजन को शांतिपूर्ण ढंग से सुनिश्चित करने को कहा।

इसके लिए सभी आवश्यक प्रबंध करने के भी निर्देश दिए।पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि बैठक में शामिल सभी अधिकारियों ने अपने-अपने क्षेत्रों में समग्र सुरक्षा परिदृश्य और चुनौतियों का मुकाबला करने के लिए अपनाए जा रहे सुरक्षा उपायों के साथ कोविड की तीसरी लहर से निपटने के बारे में भी जानकारी दी।बैठक के दौरान आईजी ने हाल ही में सफल आतंकवाद विरोधी अभियान चलाने के लिए सभी की सराहना की।

जोर दिया कि घाटी में शांतिपूर्ण माहौल सुनिश्चित करने के लिए जमीनी स्तर पर काम कर रहे अन्य बलों के साथ इस तरह के प्रयास और समन्वय जारी रहना चाहिए। उन्होंने कहा कि उपद्रव करने वालों और अफवाह फैलाने वालों सहित हिंसा भड़काने के लिए सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म का दुरुपयोग करने वाले ऐसे तत्वों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। सभी एसएसएसपी को ओजीडब्ल्यू नेटवर्क के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने के अलावा अपने-अपने क्षेत्रों में आतंकवाद विरोधी (आतंकवाद) अभियानों को बढ़ाने का भी निर्देश दिया।

पुलिस कर्मियों को कोरोना की एहतियात खुराक दिलवाने के निर्देश
आईजी कश्मीर ने अधिकारियों को अग्रिम पंक्ति के कार्यकर्ता पुलिस कर्मियों को कोविड-19 की एहतियात खुराक (बूस्टर डोज) प्रदान किए जाने के निर्देश दिए। मामले बढ़ने की स्थिति से निपटने के लिए आइसोलेशन वार्ड आदि सहित मौजूदा बुनियादी ढांचे को सक्रिय करने को भी कहा। उन्होंने इस बात पर भी जोर दिया कि पुलिस कर्मियों को कोविड उपयुक्त व्यवहार (सीएबी) का पालन करने के बारे में जागरूक किया जाए।

नशा तस्करों के खिलाफ जंग तेज करें
आईजी विजय कुमार ने अधिकारियों को नशा तस्करों के खिलाफ जंग तेज करने और समाज से इस बुराई को जड़ से खत्म करने का निर्देश देते हुए कहा कि इससे युवाओं का भविष्य खराब हो रहा है। उन्होंने दोषसिद्धि दर में सुधार के लिए मादक पदार्थों के मामलों की व्यक्तिगत रूप से जांच की निगरानी करने का भी निर्देश दिया।

इसके अलावा, उन्होंने अधिकारियों को सभी पुलिस स्तरों पर मजबूत पुलिस-सार्वजनिक संबंध बनाने और आम जनता के साथ नियमित रूप से संवादात्मक बैठकें आयोजित करने का भी निर्देश दिया क्योंकि इस तरह की बैठकें विशेष रूप से युवाओं के साथ न केवल नशीली दवाओं के खतरे को रोकने में मदद करेंगी बल्कि पुलिस-सार्वजनिक संपर्क को मजबूत करेंगी।

बिजली तारों की चोरी पर जताई चिंता
पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि आईजी ने बिजली की ट्रेनों के लिए बने रेलवे ट्रैक के किनारे तांबे के तार की चोरी की घटनाओं पर चिंता जताई और संबंधित जिले के एसएसएसपी को निर्देश दिया कि वे इन चोरियों को रोकने के उपाय करें।

Related posts