महिला दिवस पर नहीं रुका अत्याचार

ऊना/अंब। एक ओर जहां अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस मनाया जा रहा था, वहीं कुछ लोग ऐसे भी थे जो महिलाओं को प्रताड़ित कर रहे थे। महिला दिवस पर भी अत्याचारों का सिलसिला थमता नजर नहीं आया। शुक्रवार को पतियों की सताई चार महिलाओं ने इंसाफ पाने के लिए पुलिस का दरवाजा खटखटा दिया। इसकी पुष्टि एसपी रविंद्र शर्मा ने की है। एसपी ने बताया कि शुक्रवार को तीन महिलाओं ने उनके दरबार में पतियों की ओर से पीटे जाने की शिकायतें लेकर दस्तक दी है। इनमें से दो महिलाएं ऊना क्षेत्र जबकि एक महिला हरोली की थी। उन्होंने बताया कि सभी मामलों को महिला सैल के हवाले कर एफआईआर दर्ज कर छानबीन करने के निर्देश जारी कर दिए गए हैं।
उधर, अंब उपमंडल में भी एक महिला को उसके ससुरालियों की ओर से सताए जाने का मामला सामने आया है। जिसके चलते पुलिस ने कोर्ट के आदेश पर पांच लोगों को नामजद किया है। पुलिस ने न्यायालय के आदेश पर पीड़ित महिला ममता रानी पत्नी सुरेश कुमार निवासी हमीरपुर के ससुर भगवान दास, सास विमला देवी, जेठ राकेश कुमार, जेठानी नीलम कुमारी एवं ननद के खिलाफ मामला दर्ज किया है। महिला की शादी पांच वर्ष पूर्व सुरेश कुमार के साथ हुई थी। शादी के कुछ समय बाद उसके ससुराली उसे और दहेज लाने के लिए कहने लगे और मायके द्वारा दिया गया सारा सामान अपने कब्जे में ले लिया। करीब एक साल पहले ममता रानी तबीयत खराब होने के कारण अपने मायके आ गई थी। उसके बाद कई बार उसने कोशिश की कि उसका पति उसे ले जाए। लेकिन, हर बार उसके ससुराल वाले मामले को लेकर टालमटोल करते रहे। एसपी रविंद्र शर्मा ने बताया कि उक्त मामले में पुलिस ने प्राथमिकी दर्ज कर छानबीन आरंभ कर दी है।

Related posts