भारत बंद : पंजाब पुलिस को हाई अलर्ट पर रहने का निर्देश, चप्पे-चप्पे पर सुरक्षा कड़ी, कुछ संगठनों ने आज बुलाया भारत बंद

भारत बंद : पंजाब पुलिस को हाई अलर्ट पर रहने का निर्देश, चप्पे-चप्पे पर सुरक्षा कड़ी, कुछ संगठनों ने आज बुलाया भारत बंद

चंडीगढ़/पठानकोट
लुधियाना समेत प्रदेश के तमाम शहरों में पुलिस के जवान तैनात हैं। रेलवे स्टेशनों पर सुरक्षा बेहद सख्त है। पुलिस हर गतिविधि पर नजर रख रही है।उधर, हरियाणा में भी भारत बंद को लेकर प्रशासन सतर्क हैं। सुरक्षा भी बढ़ा दी गई है।

पंजाब में भारत बंद की कॉल के बाद 20 जून को पुलिस हाई अलर्ट है। कुछ संगठनों ने भारत बंद का एलान किया। इसके बाद पूरे प्रदेश में सुरक्षा चौकसी बढ़ा दी गई है। सेना भर्ती की तैयारी कराने वाले कोचिंग संस्थानों के बाहर सुरक्षा कड़ी करने का निर्देश दिया गया है। वहीं संवेदनशील स्थानों पर पुलिस के जवान मुस्तैद हैं। कई राज्यों में अग्निपथ योजना का विरोध और हिंसा की घटनाओं के बाद पंजाब में पुलिस को अलर्ट पर रहने का निर्देश दिया गया है। लुधियाना समेत प्रदेश के तमाम शहरों में पुलिस के जवान तैनात हैं। रेलवे स्टेशनों पर सुरक्षा बेहद सख्त है। पुलिस हर गतिविधि पर नजर रख रही है।उधर, हरियाणा में भी भारत बंद को लेकर प्रशासन सतर्क हैं। सुरक्षा भी बढ़ा दी गई है।

पठानकोट-जम्मूतवी रेल सेक्शन भी बुरी तरह प्रभावित
भारतीय सेना की नई भर्ती योजना ‘अग्निपथ’ को लेकर यूपी, बिहार समेत देश के कई हिस्सों में प्रदर्शन जारी हैं। रेलवे पर इसका बुरा असर पड़ा है और ट्रेनों में आगजनी और तोड़फोड़ की घटनाएं सामने आई हैं। बिहार-बंगाल से जम्मूतवी सेक्शन पर चलने वाली रेल सेवा भी प्रभावित हो गई है।

तीन दिन में बिहार-बंगाल से आने वाली 10 ट्रेनों को रद्द करना पड़ा है। शुक्रवार व शनिवार को चार ट्रेनें रद्द हुईं। रविवार को बढ़ते विरोध के चलते फिरोजपुर रेलवे को अप डाउन की छह ट्रेनें रद्द करनी पड़ी। जानकारी के मुताबिक रविवार को कोलकाता से जम्मूतवी जाने वाली सियालदाह एक्सप्रेस, राजिंद्रनगर से जम्मूतवी जाने वाली अर्चना सुपरफास्ट व कोलकाता से जम्मूतवी जाने वाली हिमगिरी सुपरफास्ट को रद्द कर दिया गया। इसी प्रकार जम्मूतवी से राजिंद्र नगर जानेवाली अचर्ना सुपरफास्ट, कोलकाता जाने वाली सियालदाह व हिमगिरी सुपरफास्ट भी रद्द करनी पड़ी।

जीआरपी व आरपीएफ ने बढ़ाई चौकसी, हर यात्री पर पैनी निगाह
केंद्र सरकार की अग्निपथ के विरोध में हो रही हिंसक घटनाओं के बाद पठानकोट के कैंट स्टेशन पर सुरक्षा व्यवस्था को बढ़ा दिया गया है। स्टेशन पर जिला पुलिस, आरपीएफ व जीआरपी हर यात्री पर पैनी निगाह रख रहे हैं। जीआरपी और आरपीएफ संयुक्त रुप से अभियान चलाकर यात्रियों पर पैनी निगाह रखे हैं।

Related posts