भाजपा चला रही थी कैप्टन सरकार, कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने कैप्टन पर साधा निशाना

भाजपा चला रही थी कैप्टन सरकार, कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने कैप्टन पर साधा निशाना

फरीदकोट (पंजाब)
कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने रविवार को पंजाब में अपनी पहली चुनावी रैली की। कोटकपूरा में उन्होंने अपने पंजाबी परिवार में विवाहित होने की बात कहकर संबंध बताए वहीं आम आदमी पार्टी और कैप्टन अमरिंदर सिंह पर भी निशाना साधा।
कोटकपूरा में रैली को संबोधित करतीं कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी।

कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी रविवार को पंजाब के दौरे पर पहुंचीं। सबसे पहले वह कोटकपूरा की नई अनाज मंडी में पार्टी उम्मीदवार अजयपाल सिंह संधू के हक में चुनावी जनसभा को संबोधित करने पहुंचीं। इस दौरान उन्होंने आप के दिल्ली मॉडल पर सवाल उठाए और उसकी तुलना भाजपा के गुजरात मॉडल से की। प्रियंका गांधी ने कहा कि आम आदमी पार्टी आरएसएस से निकली है…दिल्ली में शैक्षणिक और स्वास्थ्य संस्थानों के नाम पर कुछ भी नहीं है। राजनीतिक दलों और उनके नेताओं के बारे में सच्चाई जानना महत्वपूर्ण है।

लोगों को संबोधित करते हुए प्रियंका गांधी ने कहा कि मैं पंजाबी परिवार में विवाहित हूं। मेरे बच्चों में पंजाबी खून है। पंजाबी बड़ी शिद्दत से लड़ते है और कृषि कानून रद करवाने के लिए किए संघर्ष में उन्होंने ये साबित भी किया है।

कैप्टन अमरिंदर सिंह का नाम लिए बिना प्रियंका गांधी ने कहा कि पंजाब में पहले भी कांग्रेस सरकार की थी लेकिन वह पंजाब से नहीं बल्कि दिल्ली में भाजपा के इशारे पर चलती थी जिसके चलते ही उन्हें चन्नी को आगे लाने की जरूरत पड़ी। चन्नी को आगे आने पर वह खुद ही बेनकाब हो चुके हैं। उन्होंने कहा कि साल 2014 में भाजपा ने गुजरात मॉडल को सामने रखकर केंद्र में सरकार बनाई लेकिन नतीजा आपके सामने है। उसी तर्ज पर अब आम आदमी पार्टी की तरफ से दिल्ली मॉडल पेश करके पंजाब के लोगों को ठगने की कोशिश की जा रही है। विज्ञापनों में दिखाए जा रहे दिल्ली मॉडल में रत्ती भर भी सच्चाई नहीं है।

चन्नी की तारीफ
उन्होंने मुख्यमंत्री चरनजीत सिंह चन्नी व उनकी सरकार की प्रशंसा करते हुए कहा कि वह दिन रात मेहनत कर रहे है और अल्प समय में भी बहुत कुछ करके दिखाया है। उन्हें 5 साल का मौका दिया जाना चाहिए। प्रियंका गांधी ने राज्य में कांग्रेस की दोबारा सरकार बनने पर एक लाख लोगों को रोजगार देने, गृहस्थ महिलाओं को 11 सौ रुपये प्रतिमाह देने, जरूरतमंद परिवारों को हर साल 8 गैस सिलिंडर मुफ्त देने के साथ साथ सरकारी अस्पतालों में 20 लाख तक के मुफ्त इलाज की सुविधा देने, राज्य रोजगार योजना के तहत हर व्यक्ति को 100 दिन का रोजगार देने, आंगनबाड़ी वर्करों को 10 हजार रुपये प्रतिमाह मानदेय देने और स्कूली छाक्षाओं को स्मार्ट फोन व लैपटॉप देने के वादे किए। जनसभा में पंजाब कांग्रेस के कार्यकारी प्रधान पवन गोयल, कोटकपूरा से उम्मीदवार अजयपाल सिंह संधू, जैतो से उम्मीदवार दर्शन सिंह ढिलवां, मुक्तसर से उम्मीदवार कर्ण बराड़, पूर्व मंत्री उपेंद्र शर्मा आदि भी हाजिर रहे।

इसके बाद एक सवाल के जवाब में प्रियंका ने कहा कि मैं अपने भाई राहुल गांधी के लिए जान दे सकती हूं और वह भी मेरे लिए ऐसा कर सकते हैं। संघर्ष भाजपा में है, कांग्रेस में नहीं। योगी जी, मोदी जी और अमित शाह के बीच हितों का टकराव हो सकता है।
जनसभा में नहीं आए चन्नी व सिद्धू
प्रियंका गांधी के पंजाब दौरे की पहली जनसभा में मुख्यमंत्री चरनजीत सिंह चन्नी, पंजाब प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रधान नवजोत सिंह सिद्धू, फरीदकोट से सांसद मोहम्मद सदीक सहित सीनियर नेता नहीं पहुंचे। यहां तक फरीदकोट से कांग्रेस उम्मीदवार कुशलदीप सिंह किक्की ढिल्लों भी नहीं पहुंचे जबकि जैतो से उम्मीदवार दर्शन सिंह ढिलवां भी काफी देर से आए। हालांकि इस बारे में पंजाब कांग्रेस के कार्यकारी प्रधान पवन गोयल ने तर्क दिया कि चुनावी व्यस्ता के कारण यह लोग नहीं पहुंच पाए।
धुरी में प्रियंका गांधी ने लखीमपुर खीरी की घटना का जिक्र कर भाजपा को घेरा
कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने कहा कि कांग्रेस को वोट देना पंजाब व पंजाबियत को वोट देना है। रविवार को धूरी में कांग्रेस प्रत्याशी दलवीर सिंह गोल्डी के समर्थन में चुनावी रैली को संबोधित करते हुए प्रियंका गांधी ने कहा कि उनकी शादी पंजाबी परिवार में हुई है और उन्हें गर्व है कि उनके बच्चों की रगों में पंजाब का खून दौड़ता है। सेवा व सच्चाई जैसी पंजाब की परंपराओं को पति के परिवार से सीखा है। उन्होंने कहा कि पंजाबियत में सेवा ही सर्वोपरि है और कांग्रेस इसी सोच पर चल रही है। मतदान से पहले राजनीतिक दलों की नीयत की समीक्षा जरूर करें। उन्होंने कैप्टन पर सीएम रहते हुए भाजपा से सांठगांठ के भी आरोप लगाए।

प्रियंका ने कहा कि सीएम चन्नी की सरकार ने 111 दिन में प्रशंसनीय कार्य किए हैं। उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में किसानों को कुचलने की घटना का जिक्र करते उन्होंने कहा कि केंद्रीय मंत्री के बेटे की गाड़ी से 6 किसानों की निर्मम हत्या कर दी गई और अब उसे जमानत दे दी गई है। तब ये सियासी दल कहां थे। पंजाब के लोग इन हत्यारों को कभी माफ नहीं करेंगे। कांग्रेस ने सेवा भाव की सियासत की है, जबकि कुछ लोग केवल सत्ता को अपने हाथों में रखने की सियासत कर रहे हैं। आप पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि दिल्ली में कुछ नहीं हुआ है। विकास के दावे झूठे हैं।

कैप्टन अमरिंदर सिंह की नीयत पर सवाल उठाते हुए प्रियंका गांधी ने कहा कि उन्हें एहसास होने लगा था कि पंजाब में ठीक नहीं हो रहा है। जनता को समर्पित कांग्रेस सरकार की केंद्र में भाजपा से सांठगांठ के स्पष्ट संकेत मिलने लगे थे। ऐसे में मुख्यमंत्री को बदलना लाजिमी हो गया था। चन्नी सरकार कांग्रेस व जनता की उम्मीद पर खरा उतरी है। उन्होंने कहा कि भले ही पंजाब कांग्रेस के नेताओं में थोड़ी लड़ाई हो, लेकिन सभी नेता पंजाब को समर्पित हैं। सीएम चन्नी ने सांसद भगवंत मान को चुनौती देते कहा कि अपने संसदीय क्षेत्र में विकास के एक भी प्रोजेक्ट का नाम बताएं। रैली में नवजोत सिंह सिद्धू, सुनील जाखड़ सहित अन्य नेता उपस्थित थे।
एक तीर से कई निशाने साध गईं प्रियंका गांधी
कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने धुरी रैली में एक तीर से कई निशाने साधे। मंच पर बैठे नवजोत सिंह सिद्धू के सामने मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी की जमकर तारीफ कर प्रियंका ने सिद्धू के आए दिन उग्र होते तेवरों को कमजोर करने का प्रयास किया। ससुराल परिवार के पंजाबी होने का हवाला देकर पंजाब से भावनात्मक रिश्ता जोड़ा। साथ ही उन्होंने अपने पिता राजीव गांधी के सहपाठी रहे कैप्टन अमरिंदर सिंह को भी घेरने में कोई कसर नहीं छोड़ी। प्रियंका ने मंच से मुख्यमंत्री रहते हुए कैप्टन अमरिंदर सिंह की केंद्र की भाजपा सरकार से सांठगांठ का आरोप लगाया और सीएम बदलने के फैसले को उचित बताया। किसान वोट बैंक को साधने के लिए उन्होंने दिल्ली किसान आंदोलन में साढे़ सात सौ किसानों की शहादत और लखीमपुर खीरी में किसानों की निर्मम हत्या का मुद्दा उठाया। भाजपा पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि कांग्रेस जज्बातों से खेलने की राजनीति नहीं करती है बल्कि सच्चाई के आधार पर वोट मांग रही है।

Related posts