भाजपा के विरोध के कारण दिल्ली में भीषण जाम, जानिए कहां-कहां है परेशानी और कैसे बचें

भाजपा के विरोध के कारण दिल्ली में भीषण जाम, जानिए कहां-कहां है परेशानी और कैसे बचें

नई दिल्ली
लंबे वीकेंड के बाद दिल्ली-एनसीआर के लोग जब अपने काम पर लौटने के लिए सड़कों पर उतरे तो सुबह से ही उन्हें भीषण जाम की समस्या का सामना करना पड़ रहा है।

कोरोना और ओमिक्रॉन के बढ़ते मामलों के चलते मेट्रो और बसों में सीट न मिलने लंबी लाइनों की समस्या से जूझ रही दिल्ली हफ्ते के पहले दिन ही शहरभर में लगे ट्रैफिक से बेहाल है। लंबे वीकेंड के बाद दिल्ली-एनसीआर के लोग जब अपने काम पर लौटने के लिए सड़कों पर उतरे तो सुबह से ही उन्हें भीषण जाम की समस्या का सामना करना पड़ रहा है।

नई आबकारी नीति के खिलाफ भाजपा आज जो पूरी दिल्ली में चक्का जाम कर रही है उससे लोग काफी परेशान हो रहे हैं। जिसके तहत अक्षरधाम से लेकर लिंक रोड तक पर भारी जाम लग गया है। भाजपा सांसद इस प्रदर्शन का नेतृत्व संभाल रहे हैं।
दिल्ली में इन जगहों पर लगा है जाम
उत्तम नगर चौक से द्वारका मोड़ जाने से बचें- उत्तम नगर से पंखा रोड व पंखा रोड से धौला कुआं का का प्रयोग करें
उत्तर पश्चिमी जिले में चक्का जाम
सिग्नेचर ब्रिज जाने से बचें
आईटीओ चौक पर चक्का जाम
शाहदरा जिले में चक्का जाम
करोल बाग में चक्का जाम
अक्षरधाम क्रॉस रोड मॉल पर चक्का जाम
लक्ष्मी नगर से कड़कड़ीमोड तक लंबा जाम
सिग्नेचर ब्रिज पर गाजियाबाद की तरफ करीब 5 किलोमीटर लंबा जाम

क्या है नई शराब नीति जिसका भाजपा कर रही विरोध
दिल्ली सरकार की नई आबकारी नीति के तहत निजी तौर पर चलने वालीं 260 दुकानों समेत सभी 850 शराब की दुकानें खुली निविदा के जरिए निजी कंपनियों को वितरित की गई हैं। नई व्यवस्था के तहत दिल्ली सरकार खुदरा शराब के व्यापार से बाहर हो जाएगी। शराब की दुकानें अब कम से कम 500 वर्ग फुट क्षेत्र में खोली जाएंगी। दुकानें अब वातानुकूलित व सीसीटीवी से लैस होंगी। नई दुकान की वजह से सड़क पर भीड़ नहीं लगेगी। क्योंकि शराब की बिक्री दुकानों के भीतर ही की जाएगी। नई आबकारी नीति के तहत 2,500 वर्ग फुट के क्षेत्रफल वाले पांच सुपर-प्रीमियम खुदरा विक्रेता भी दुकान खोलेंगे, जहां शराब पीने की भी सुविधा दी जाएगी।
 

Related posts